कोरोना से 10 पुलिस जवानों की गई जान, एक साल में 3199 हुए संक्रमित

देहरादून:  कोरोना महामारी हर दिन नया रिकॉर्ड बना रही है। पूरे देश में कोरोना महामारी का रूप देख लोग दहशत में हैं। ऐसे में फ्रंट लाइन वॉरियर्स के रूप में दिन-रात लोगों की सेवा करने वाले स्वास्थ्य कर्मी और पुलिस इस महामारी से दो-दो हाथ कर रहे हैं। वहीं, उत्तराखंड पुलिस भी इस मामले में जनता से ज्यादा सतर्क नजर आ रही है।

उत्तराखंड पुलिस कोरोना महामारी पर रोक लगाने के लिए दिन-रात मुस्तैदी से जुटी हुई है। कोविड गाइडलाइन का पालन करवाने के लिए पुलिसकर्मी सड़कों से लेकर कंटेनमेंट जोन तक अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं। वहीं, कोरोना महामारी के दौरान ड्यूटी निभाने वाले पुलिसकर्मी भी इसकी चपेट में आ रहे हैं।

उत्तराखंड पुलिस मुख्यालय से मिले आंकड़ों के अनुसार मार्च 2020 से लेकर 3 मई 2021 तक 3199 पुलिसकर्मी कोरोना पॉजिटिव पाए गए। वहीं, कोरोना संक्रमण से अबतक 10 पुलिसकर्मियों ने अपनी जान गंवा दी है।

वहीं, कोरोना काल में हुए हरिद्वार महाकुंभ में प्रदेश पुलिस अपनी ड्यूटी ईमानदारी से निभाती नजर आई। जनता की सुरक्षा में लगे फ्रंटलाइन वॉरियर्स ना सिर्फ स्वास्थ्य गाइडलाइन का पालन कराने में जुटे हैं, बल्कि खुद भी उसका पालन कर रहे हैं।

यही नतीजा है कि वैक्सीन लगाने के साथ ही पुलिस कोरोना से खुद को बचाने के लिए सभी गाइडलाइनों का पालन कर रही है। मार्च 2020 से लेकर 23 मार्च 2021 कोरोना की प्रथम लहर में कुल 1981 पुलिसकर्मी कोरोना पॉजिटिव पाए गए। जबकि इस दौरान 8 पुलिस कर्मियों की मौत हो गई।

वहीं, कोरोना की दूसरी लहर में 23 मार्च 2021 से 3 मई 2021 तक 1218 पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित हुए हैं। इस दौरान 2 पुलिसकर्मियों की मौत कोरोना से हो गई। वहीं पिछले एक साल में कुल 3199 पुलिस कर्मी संक्रमित हुए और 10 की मौत हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

पुलिस कर्मी पर शादी का झांसा देकर दुष्कर्म का आरोप

देहरादून:  एक महिला ने एफएसएल में तैनात कॉन्स्टेबल पर शादी का झांसा देकर दुष्कर्म का आरोप लगाया है। पीड़ित महिला ने नेहरू कॉलोनी थाने में अपनी तहरीर भी दी है। इस मामले पर एसपी सिटी सरिता डोभाल का कहना है कि तथ्यों के आधार पर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी। पीड़ित […]