12 हजार वनकर्मी जुटेआग बुझाने में, सभी फॉरेस्ट अफसरों की छुट्टियों पर रोक,

-वनाग्नि प्रबंधन की समीक्षा के लिए मुख्यमंत्री ने बुलाई आपात बैठक

-केंद्र सरकार ने कराये दो हेलीकाप्टर उपलब्ध 

देहरादून:  मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने वनाग्नि की घटनाओं को अत्यंत गंभीरता से लिया है। सीएम ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए शासन, पुलिस व वन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों और सभी जिलाधिकारियों के साथ वनाग्नि प्रबंधन की समीक्षा के लिए आपात बैठक बुलाई। जिसमें सभी को जरूरी निर्देश दिए गये।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने बताया कि प्रदेश में वनाग्नि की बढ़ती घटनाओं पर काबू पाने के लिए केंद्र सरकार ने दो हेलीकाप्टर उपलब्ध कराये हैं।

इस संबंध में उनकी केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से फोन पर बात हुई है। केंद्रीय गृह मंत्री ने हर संभव मदद का भरोसा जताया है। आवश्यकता होने पर एनडीआरएफ की टीमें भी भेजी जाएंगी।

बैठक में बताया गया कि प्रदेश में इस वर्ष 983 घटनाएं हुई हैं. जिससे 1292 हेक्टेयर वन क्षेत्र प्रभावित हुआ है। वर्तमान में 40 एक्टिव फायर चल रही हैं।

नैनीताल, अल्मोड़ा, टिहरी गढ़वाल और पौड़ी गढ़वाल वनाग्नि से अधिक प्रभावित हैं। वनाग्नि को रोकने के लिए 12 हजार वनकर्मी लगे हैं। 1300 फायर क्रू स्टेशन बनाए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

पर्यावरण संरक्षण की दिशा में दून विश्वविद्यालय का महत्वपूर्ण कदम परिसर में होगा “नो व्हीकलडे”

-परिसर में प्रत्येक माह के पहले सोमवार को रहेगी वाहनों की आवाजाही बन्द  -इस प्रकार के कार्यों को “बैस्ट प्रैक्टिसेज” के तौर पर आंका जाता है:  कुलपति देहरादून: दून विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो० सुरेखा डंगवाल के नेतृत्व में विश्वविद्यालय परिसर में प्रत्येक महीने के पहले सोमवार को वाहनों की आवाजाही […]