कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने जल संस्थान के अधिकारियों के साथ की बैठक, पेयजल की समस्याओं के निराकरण पर की बात

Ghughuti Bulletin

देहरादून:  कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी द्वारा मसूरी विधानसभा क्षेत्र से जुड़ी हुई पेयजल और सीवरेज समस्याओं के निराकरण के संबंध में अपने विधानसभा कक्ष में पेयजल निगम और जल संस्थान के विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक आयोजित करते हुए जरूरी दिशा-निर्देश दिये।
जोशी ने राजेन्द्रनगर में पेयजल की समस्याओं का सामना कर रहे लोगों को पेयजल समस्या से निजात दिलाने के लिए तत्काल ट्यूबवैल लगाने के निर्देश दिये। इस संबंध में पेयजल निगम के अधिकारियों ने कैबिनेट मंत्री को अवगत कराया कि पुरानी पेयजल लाईन से वर्तमान समय में लोगों को पर्याप्त पेयजल की आपूर्ति नहीं हो पा रही है जिसके समाधान के लिए आगामी 25 जून से ट्यूबवैल निर्माण का कार्य प्रारम्भ कर दिया जायेगा।

इसी तरह अनारवाला, दून विहार और कुठालगेट जहाँ पर वर्तमान समय में लोगों को बीच-बीच में टैंकर के माध्यम से लोगों को पेयजल की आपूर्ति करानी पड़ रही है इस सम्बध में उन्होंने निर्देश दिये कि वहां पर लोगों को पर्याप्त जल आपूर्ति सुनिश्चि करने के लिए तेजी से कार्यवाही की जाए।

वहीं कालीदास रोड़ जहाँ पर पुरानी सीवरेज लाईन क्षतिग्रस्त हो चुकी है तथा बरसात के समय सीवर लाईन में पानी जमा होने की समस्या बनी रहती है तथा सीवरलाईन ओवरफ्लो हो जाती है के संबंध में कैबिनेट  मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि इस स्थान पर नई सीवर लाईन हेतु 4.99 करोड रूपये की स्वीकृति प्रदान हो चुकी है तथा इस कार्य को प्रारम्भ करने के लिए उन्होंने शीघ्र ही विभागों को टेण्डरिंग प्रक्रिया प्रारम्भ करने के निर्देश दिये।

मंत्री ने पेयजल निगम और जल संस्थान को निर्देशित किया की समय के साथ आबादी बढ़ने तथा पानी का लेबल लगातार नीचे जाने के चलते भविष्य में पेयजल की और भी अधिक किल्लत होने की संभावना है इसको देखते हुए पेयजल आपूर्ति से जुड़ी हुई दीर्घकालिक योजना पर काम करें जिसके तहत आबादी से सटे हुए ऊंचाई वाले क्षेत्रों में चैकडाम, झील इत्यादि का निर्माण करें ताकि जल से भूमिगत रिचार्ज होने से वाटर लेबल बेहतर हो सके।

उन्होंने कार्यदायी विभागों को निर्देशित किया कि कार्य करने के दौरान जहाँ पर भी सड़क की खुदाई होती है वहां पर तत्काल गुणवत्ता पूर्वक सड़क निर्माण भी साथ-साथ पूर्ण किया जाए ताकि आगामी बरसाती सीजन में लोगों को किसी तरह का सामना न करना पड़े।

इस अवसर पर बैठक में सी0जी0एम0 जल संस्थान एस0के0शर्मा, जी0एम0 नीलीमा गर्ग, अधीक्षण अभियंता (शहरी) विनोद चन्द, अधीशासी अभियंता (उत्तर) मोनिका वर्मा, अधीशासी अभियंता उत्तराखण्ड पेयजल निगम संदीप कश्यप, जिला पंचायत उपाध्यक्ष दीपक पुंडीर, पार्षद भूपेंद्र कथैत, नंदिनी शर्मा, योगेश, राकेश जोशी सहित संबंधित लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

कोविड-19 के दौरान मरीजों को समय से दिल का इलाज कराना चाहिए

-इलाज में देरी से हृदय रोगियों में गंभीर जटिलताएं पैदा हो सकती हैं: डॉ पुनीश सदाना देहरादून:  कोविड-19 महामारी ने हृदय रोगियों के स्वास्थ्य और कल्याण पर नए सिरे से ध्यान केंद्रित किया है। डॉ पुनीश सदाना, प्रिंसिपल कन्सल्टॅन्ट्, मैक्स सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल, देहरादून ने भारत के सभी हृदय रोगियों […]

You May Like