अपर मुख्य सचिव ने की कोविड राहत पैकेज घोषणाओं पर विभागवार समीक्षा

Ghughuti Bulletin

देहरादून: गुरूवार को सचिवालय में अपर मुख्य सचिव आनंद बर्द्धन ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा कोविड राहत पैकेज के तहत की गई घोषणाओं की विभागवार समीक्षा की। और सभी सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों को मुख्यमंत्री द्वारा की गई घोषणाओं को जल्द से जल्द पूर्ण करने के निर्देश दिये।

समीक्षा के दौरान पर्यटन विभाग ने बताया कि पर्यटन व्यवसाय की विभिन्न गतिविधियों से सम्बंधित व्यक्तियों , टूर ऑपरेटर्स वोट संचालकों आदि कुल 20810 लाभार्थियों को 13.39 करोड़ तथा वीरचन्द्र सिंह गढ़वाली एवं दीन दयाल होम स्टे योजना के अन्तर्गत 590 लाभार्थियों को व्याज की पूर्ति के रूप में 1.33 करोड़ की धनराशि जारी की गई है। परिवहन विभाग के अन्तर्गत कुल 32486 सार्वजनिक सेवायानों के चालकों, परिचालक, क्लीनर को आर्थिक सहायता के तौर पर 6.68 करोड़ की धनराशि, संस्कृति विभाग के 1030 सांस्कृतिक दलों को 21 लाख कि धनराशि, शहरी विकास विभाग के अन्तर्गत नौकुचियाताल भीमताल, सातताल आदि में पंजीकृत 420 वोट संचालकों को 42 लाख और महिला एवं बाल विकास विभाग के अन्तर्गत मुख्यमंत्री वात्सल्य योजना के तहत 2318 लाभार्थियों का 2.79 करोड़ की धनराशि अवमुक्त की जा चुकी है। ग्रामीण आजीविका मिशन के अन्तर्गत भी 217526 स्वयं सहायता समूहों को ब्याज प्रतिपूर्ति के रूप में 20.58 करोड़, ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत 65186 सीएलएफ को एक मुस्त अनुदान के रूप में 7.95 करोड़ तथा 459 ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम पंचायत अधिकारी एवं सहायक विकास अधिकारियों को रू. 10 हजार की प्रोत्साहन राशि के रूप में 45.90 करोड़ की धनराशि जारी कर दी गई है।

इसी क्रम में महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग की 33297 आंगनवाड़ी कार्यकर्तियों, मिनी कार्यकर्तियों एवं सहायिकाओं को एक हजार प्रति कार्मिक की दर से 3.33 करोड़, 33297 आंगनवाड़ी कार्यकर्ती एवं मिनी कार्यकर्ती एवं सहायिकाओं को दो हजार प्रति कार्मिक की दर से 6.66 करोड़, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अन्तर्गत 12529 आशा वर्कर आदि को दो हजार प्रतिमाह की दर से 5 माह का 12.53 करोड़, रक्षा बंधन पर 11983 आशा कार्यकर्तियों को एक हजार की दर से 1.20 करोड़, युवा कल्याण विभाग के 1087 युवक मंगल दल, महिला मंगल दलों को 6 माह की आर्थिक सहायता के रूप में 1.55 करोड़ तथा राजस्व विभाग के अधीन 1347 पटवारी लेखपाल, राजस्व निरीक्षक एवं नायब तहसीलदार को दस हजार की एक मुस्त प्रोत्साहन राशि के रूप में 1.34 करोड़ की धनराशि अवमुक्त की गई है।

समीक्षा बैठक में सचिव एस.ए मुरूगेशन, श्विनाथ रमन, विनोद कुमार सुमन, एस.एन. पाण्डे आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

तकनीकी युग में स्मार्ट पुलिस का होना आवश्यक: सीएम धामी

देहरादून : आज मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय परिसर से हंस फाउण्डेशन द्वारा पुलिस विभाग को प्रदान किये गये वाहनों को फ्लैग ऑफ किया। फाउण्डेशन द्वारा ये वाहन उत्तराखण्ड पुलिस को हिल पैट्रोलिंग व इमरजेंसी रिस्पॉन्स हेतु दिये जा रहे हैं। इसमें उत्तराखण्ड पुलिस को 101 वाहन […]