अफगानिस्तान में फंसे सभी उत्तराखंडी जल्द आएंगे वापस, सीएम धामी ने रक्षा मंत्री और एनएसए को सौंपी लिस्ट

Ghughuti Bulletin

खटीमा:  अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद भारत सरकार वहां से अपनों को निकालने के प्रयास में जुटी है। तीन दिन पहले एयर इंडिया की फ्लाइट से 129 लोग भारत पहुंचे थे। वहीं, अफगानिस्तान में फंसे उत्तराखंडवासियों को सकुशल प्रदेश वापस लाने की मुहिम में जुटे सीएम पुष्कर सिंह धामी ने रक्षा मंत्री और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल से फोन पर वार्ता की। सीएम धामी ने सभी उत्तराखंडवासियों को वापस लाने का आग्रह किया है।

उधम सिंह नगर जनपद की विधानसभा सीट खटीमा पहुंचे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि अफगानिस्तान में फंसे लगभग 160 उत्तराखंड वासियों की सकुशल वापसी के लिए प्रयास शुरू कर दिए गए हैं। सीएम ने बताया कि उत्तराखंड के जितने भी लोग वहां फंसे हैं उनकी सूची भारत सरकार को दी गई है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड सरकार और भारत सरकार अफगानिस्तान में फंसे सभी भारतीयों को निकालने के लगातार प्रयास कर रही हैं। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी खटीमा से ही विधायक हैं।

-प्रशासन को दें सूचना

अफगानिस्तान में फंसे उत्तराखंड के लोगों को वापस लाने के लिए राज्य सरकार पूरी कोशिश कर रही है। ऐसे में वहां फंसे लोगों के परिजन संबंधित व्यक्ति का नाम, पासपोर्ट और अन्य जानकारी अपने जिले के जिलाधिकारी या एसएसपी को दे सकते हैं। इसके साथ ही हेल्पलाइन नंबर 112 पर भी इसकी सूचना दी जा सकती है। बता दें, अफगानिस्तान की राजधानी काबुल समेत अधिकांश अफगानिस्तान पर पर तालिबानियों ने कब्जा कर लिया है।

वहीं अफगानिस्तान में फंसे अन्य देशों के लोग वहां से निकलने की जुगत में लगे हुए हैं। सैकड़ों भारतीय भी अफगानिस्तान में फंसे हैं, उनमें कई उत्तराखंड के हैं, जिन्होंने एक वीडियो बनाकर 17 अगस्त को राज्य सरकार से मदद की गुहार लगाई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

मंत्रिमंडलीय उपसमिति की रिपोर्ट पर हंगामा, अधर में 22 हजार कर्मचारियों का भविष्य

-उपनल कर्मियों की वेतन बढ़ोत्तरी पर लिया था निर्णय देहरादून: उत्तराखंड में मंत्रिमंडलीय उप समिति की रिपोर्ट को कैबिनेट में रखने से अधिकारी न जाने क्यों परहेज कर रहे हैं। खास बात ये है कि कैबिनेट की बैठक में मंत्रियों को रिपोर्ट पेश करने के लिए दबाव बनाना पड़ रहा […]