कोरोना कर्फ्यू का फायदा उठाकर, अवैध खनन जोरों पर

हल्द्वानी: नदियों से खनन की निकासी बंद हो चुकी है। लक्ष्य पूरा हो जाने के बाद कुमाऊं मंडल की सभी नदियों से खनन का काम बंद हो चुका है। ऐसे में अब अवैध खनन को लेकर खनन माफिया सक्रिय हो गए हैं।

खनन माफिया कोरोना कर्फ्यू का फायदा उठाकर अवैध खनन के कारोबार को बेखौफ अंजाम दे रहे हैं। ऐसे में अवैध खनन ना हो इसको लेकर वन विभाग अतिरिक्त फोर्स और नदियों के रास्तों को बंद करने का काम कर रहा है।

हल्द्वानी में अवैध खनन करने वाले कर्फ्यू का भरपूर फायदा उठा रहे है,जबकि कुमाऊं मंडल की नदियों से इन दिनों  खनन निकासी का काम बंद हो चुका है। इसके बाद खनन माफिया अब अवैध खनन के कारोबार को अंजाम दे रहे हैं। ऐसे में वन विभाग अवैध खनन को रोकने को लेकर पूरी तरह से मुस्तैद है।

मुख्य वन संरक्षक पश्चिमी वृत्त जीवन चंद्र जोशी ने बताया, कि नदियों से अवैध खनन ना हो, इसको लेकर नदियों से वाहनों के आने-जाने वाले रास्तों को गड्ढा खोद कर बंद करने का काम किया जा रहा है। साथ ही अवैध खनन संभावित जगहों पर अतिरिक्त वन विभाग कर्मियों की तैनाती की गई है।

उन्होंने बताया कि कोरोना कर्फ्यू के दौरान अवैध खनन और अवैध लकड़ी को कटान ना हो इसको लेकर भी वन विभाग के कर्मचारियों को तीन शिफ्ट में गश्त करने के निर्देश जारी किए गए हैं। सुरक्षा के मद्देनजर वन विभाग की एसओजी की टीम को भी तैनात किया गया है।

मुख्य वन संरक्षक पश्चिमी वृत जीवन चंद्र जोशी ने बताया, कि अवैध खनन रोकने के लिए सभी वन क्षेत्राधिकारी और डीएफओ को निर्देशित किया गया है। अपने-अपने क्षेत्रों की नदियों की निगरानी के लिए वन विभाग की अतिरिक्त टीमें लगाई जाने के आदेश दिए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

कोरोना के चलते, गौ सेवा आश्रम में चारे का संकट

हल्द्वानी:  कोरोना का कहर इंसानों के साथ-साथ बेजुबान जानवरों पर भी देखा जा रहा है। कोरोना संकट के चलते हल्दूचौड़ स्थित गौ सेवा आश्रम में रह रहे करीब 1500 से अधिक गोवंशियों के आगे चारे का संकट पैदा हो गया है। ऐसे में संस्था ने सरकार और आम लोगों से […]