उतीस के 64 पेड़ों पर चली आरी, कार्रवाई की मांग

Ghughuti Bulletin

बागेश्वर:  कपकोट के नौकोड़ी क्षेत्र में राज्य सरकार की भूमि से उतीस के 64 पेड़ काटे जाने का मामला सामने आया है। नौकोड़ी निवासी एक व्यक्ति ने जंगल से पेड़ काटने का मामला कपकोट के एसडीएम के सामने उठाया है। उन्होंने कहा कि पेड़ कटान से उनकी नाप भूमि को भी नुकसान पहुंचा है।

नौकोड़ी निवासी हरीश चंद्र सिंह पुत्र बहादुर सिंह ने कपकोट के एसडीएम प्रमोद कुमार को दिए शिकायती पत्र में कहा है कि कुछ लोगों ने राज्य सरकार की भूमि से उतीस के 64 पेड़ काट दिए हैं। जंगल कटे पेड़ों से पटा पड़ा है। जिस जमीन से पेड़ काटे गए हैं, उसी जमीन के पास उनकी नाप भूमि है। पेड़ों के कटान से उनकी जमीन को भी नुकसान पहुंच रहा है। उनके मकान के लिए भी खतरा उत्पन्न हो गया है। पेड़ काटने का विरोध करने पर उन्हें धमकी दी जा रही है।

उन्होंने कहा कि पेड़ कटान में गांव के ही कुछ लोगों का हाथ है। उन्होंने एसडीएम को दिए पत्र में पेड़ काटने वाले लोगों का भी खुलासा किया है। उक्त प्रकरण की उच्च स्तरीय जांच कर पेड़ काटने वाले तत्वों के खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जाए।कपकोट एसडीएम प्रमोद कुमार ने कहा कि पेड़ काटने संबंधी पत्र उन्हें हाथों हाथ नहीं सौंपा गया है। डाक से पत्र आया होगा तो वन विभाग को कार्रवाई के लिए भेज दिया जाएगा। पेड़ कटने की पुष्टि होने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

दक्षिणी राज्यों की तर्ज पर हो उत्तराखंड में भू सुधार हरीश रावत

देहरादून:  पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि प्रदेश में भू.सुधार के लिए दक्षिण के राज्यों की व्यवस्था का अध्ययन किया जाना चाहिए। कर्नाटक की सरकार के भू.कानून माॅडल की बात करते हुए उन्होंने कहा कि यहां भी उनकी तरह इसे बड़े पैमाने पर लागू करने की आवश्यकता है। पूर्व […]