सीएम ने कहा: यदि कार्यकर्ता ईमानदारी से निरंतर कार्य करें, तो उन्हें आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता

Ghughuti Bulletin

-भाजपा महानगर कार्यालय पहुंचे थे सीएम

-कार्यकर्ताओं की भारी भीड़ ने किया ढोल नगाड़ों के साथ स्वागत

-2022 में भाजपा 60 सीटें जीतकर उत्तराखंड का इतिहास बदल देगी: धामी

देहरादून:  गुरुवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी भाजपा महानगर कार्यालय पहुंचे। धामी के स्वागत में पार्टी कार्यकर्ताओं ने ढोल नगाड़ों के साथ आतिशबाजी की। उनके स्वागत में रखे गए कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं की भारी भीड़ देखने को मिली।

महानगर कार्यालय में कार्यकर्ताओं को सम्भोधित करते हुए मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि, यदि कार्यकर्ता अपने समाज एवं पार्टी के लिए ईमानदारी से निरंतर कार्य करते हैं तो कोई उसे आगे बढ़ने से नहीं रोक सकता। इसका उदाहरण वह स्वयं हैं। कहा कि वह किसी राजनीतिक परिवार से नहीं हैं, एक सैनिक के बेटे हैं और पार्टी ने उन्हें मां की तरह पाला है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जन्म देने वाली मां और धरती मां के साथ ही भाजपा हमारी मां है, जो अपनी सभी संतानों का समान रूप से ध्यान रखती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के लाखों कार्यकर्ताओं के दम पर 2022 में भाजपा 60 सीटें जीतकर उत्तराखंड का इतिहास बदल देगी।

इस दौरान सीएम ने कहा कि मेरा कोई निजी एजेंडा नहीं है। प्रदेश का विकास और पार्टी की ओर से दी गई जिम्मेदारी का निर्वहन करना ही मेरा कर्तव्य है।

बैठक को महापौर सुनील उनियाल गामा, विधायक खजान दास, महानगर अध्यक्ष सीताराम भट्ट ने भी संबोधित किया।

इस दौरान काबीना मंत्री गणोश जोशी, कैंट विधायक हरबंस कपूर, महानगर प्रभारी कुसुम कंडवाल, प्रदेश प्रवक्ता विनय गोयल, शादाब शम्स, उपाध्यक्ष देवेंद्र भसीन, अनिल गोयल, आदित्य चौहान, पुनीत मित्तल, बृजेश गुप्ता, राजीव उनियाल, रतन सिंह चौहान, लच्छू गुप्ता आदि उपस्थित थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

मुख्यमंत्री ने जनता दर्शन हॉल मेंं सुनी जन समस्यायें

-सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ लें: मुख्यमंत्री देहरादून:  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मुख्यमंत्री आवास स्थित जनता दर्शन हॉल मेंं जन समस्याओंं को सुना। इस दौरान प्रदेश के विभिन्न स्थानों से पहुंचे लोगों ने मुख्यमंत्री को अनेक समस्यों से अवगत कराया जिसमें मुख्य रुप से. […]