बर्ड फ्लू के प्रकोप को लेकर नैनीताल चिड़ियाघर में हाई अलर्ट

Ghughuti Bulletin

नैनीताल:  देश में चल रहे बर्ड फ्लू के प्रकोप को लेकर नैनीताल चिड़ियाघर में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया है। नैनीताल चिड़ियाघर में वन्य जीवों के आहार से अंडा और चिकन पर पूर्ण रूप से रोक लगा दी गई है।

साथ ही जू में आने वाले पर्यटकों को प्रवेश द्वार पर सेनेटाइज किया जा रहा है। जबकि वन्य जीवों से दूरी बनाए जाने को लेकर इंतजाम किए गए हैं।
नैनीताल जू के वनक्षेत्राधिकारी अजय रावत ने बताया कि सेंट्रल जू

अथॉरिटी की ओर से देश के सभी चिड़ियाघरों को बर्ड फ्लू की आशंका को देखते हुए अलर्ट जारी किया गया है। साथ ही एहतिहात बरतने के लिए एडवाइजरी जारी की गई है।

नैनीताल चिड़याघर में बंगाल टाइगर समेत अन्य वन्य जीवों के लिए चिकन प्रतिबंधित कर दिया गया है। साथ ही अंडे पर भी रोक लगा दी गई है।

इसके अलावा चिड़ियाघर में आने वाले हर पर्यटक को प्रवेश द्वार में ही वन्य जीवों को निहारने के दौरान निश्चित दूरी बनाए रखने को कहा जा रहा है। बाड़े को नहीं छूने की सख्त हिदायत दी जा रही है।

इसके बाद ही प्रवेश दिया जा रहा है। बाड़ों के आसपास सेनेटाइ करने के साथ ही साफ सफाई की गई है। उन्होंने बताया कि चिड़ियाघर में फिजेंट्स व बर्ड की संख्या 167 है।

बर्ड फ्लू के संक्रमण से बचाने के लिए चिकन, अंडे आदि को भोजन के मीनू से फिलहाल हटा दिया गया है। फिजेंट्स व बर्ड के बाड़े के बाहर पोस्टर चस्पा कर दिया गया है।

जिसमें पर्यटकों को जागरूक करते संदेश लिखे गए हैं। उन्होंने कहा कि संक्रमण की रोकथाम के लिए पुख्ता कदम उठाए गए हैं। कर्मचारियों की भी अतिरिक्त ड्यूटी लगाई गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

पंचायतीराज संस्थाओं के लिए दून में 8 जनवरी को कार्यक्रम

देहरादून: उत्तराखंड सरकार के पंचायती राज विभाग के सहयोग से संसदीय लोकतंत्र शोध एवं प्रशिक्षण संस्थान, लोकसभा सचिवालय द्वारा उत्तराखंड राज्य की पंचायती राज संस्थाओं के लिए देहरादून में 8 जनवरी को एक कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। इस संबंध में आज पंचायती राज के सचिव एचसी सेमवाल […]