बेमौसमी बारिश से फसलों को नुकसान, काश्तकारों में मायूसी

उत्तरकाशी: बेमौसमी बारिश ने  किसानों की परेशानियां बढ़ा दी हैं। उत्तरकाशी जिले के गंगा और यमुना घाटी में एक सप्ताह से बेमौसमी बारिश जारी है। जिस कारण ग्रामीणों और काश्तकारों को हर दिन नुकसान झेलना पड़ रहा है।

दो दिन पूर्व बड़कोट तहसील के जांदणु और खरीमु गांव में अतिवृष्टि से उफान पर आए नदी-नालों के कारण संचित भूमि और कुछ गौशालाओं को नुकसान हुआ है। वहीं, गैर बनाल क्षेत्र में शुक्रवार को हुई ओलावृष्टि के कारण फसलों को नुकसान पहुंचा है।

पहाड़ों में लगातार बेमौसमी बारिश लोगों पर आफत बनकर टूट रही है। क्षेत्र पंचायत सदस्य मनोज पंवार ने बताया कि दो दिन पूर्व बड़कोट तहसील के गोडर पट्टी के ग्राम पंचायत जांदणु और खिरमु गांव में अतिवृष्टि के कारण नदी नाले उफान पर आने के कारण मलबा खेतों में घुस गया है।

जिससे किसानों की तैयार फसलों को नुकसान हुआ है। वहीं ग्रामीणों की गौशालाओं में भी मलबा घुस गया। हालांकि घटना में किसी प्रकार की जनहानि और पशु हानि नहीं हुई है। एसडीएम चतर सिंह चैहान ने बताया कि ग्रामीणों की सूचना पर राजस्व उपनिरीक्षक मौके पर पहुंचकर नुकसान का आकलन कर रहे हैं।

शुक्रवार को गैर बनाल क्षेत्र में ओलावृष्टि के कारण नगदी फसलों को नुकसान हुआ है। ग्रामीणों का कहना है कि सेब के पेड़ों के साथ ही गेहूं और आडू, खुमानी के फलों को भी नुकसान हुआ है। काश्तकारों ने शासन-प्रशासन से मुआवजे की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

कोविड रोकथाम को लेकर 10 मई को बड़ा फैसला लेगी सरकारः सुबोध उनियाल

देहरादून: कोविड रोकथाम को लेकर आगामी 10 मई को उत्तराखंड सरकार बड़ा फैसला लेगी। यह जानकारी शासकीय प्रवक्ता सुबोध उनियाल ने शनिवार को दी है। बता दें कि राज्य सरकार ने देहरादून, हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर जिले समेत आठ नगर निगमों के संपूर्ण क्षेत्रों में कोविड कर्फ्यू बढ़ाया था। आगामी […]