19 साल की बेटी ने करवाई पिता की हत्या, प्रेमी को दी थी सुपारी

Devendra Budakoti

देहरादून: कोटा में 19 साल की बेटी ने +अपने प्रेमी को 50 हजार रुपये की सुपारी देकर अपने पिता की हत्या करवा दी। लड़की पिता के नशेड़ी होने और कर्ज से परेशान थी। जिसके बाद उसने पिता की हत्या करने की साजिश की। पुलिस ने युवती, उसके प्रेमी सहित पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

हत्या के आरोप में मृतक की बेटी शिवानी (19), प्रेमी अतुल उर्फ सेंटी (20) निवासी नापाहेड़ा, ललित मीणा (21) निवासी सुन्दलक जिला बारां, विष्णु भील (21) और विजय सैनी (20) निवासी नांता को कोटा से गिरफ्तार कर दिया गया है। मृतक राजेंद्र मीणा सरकारी स्कूल में टीचर थे। उसके दो पत्नियां हैं। पहली पत्नी से बेटी शिवानी है। दोनों पत्नियां अलग-अलग रहती है।

राजेंद्र का एक मकान सुल्तानपुर में, जबकि दूसरा मकान बिसलाई गांव में है। सुल्तानपुर वाले मकान में शिवानी अपनी मां सुगना के साथ रहती है। नशे की लत के कारण कर्ज में डूबा राजेंद्र सुल्तानपुर वाला मकान बेचना चाहता था। यह घर पहली पत्नी के नाम से है।

कर्ज देने वाले पैसे लेने के लिए इसी घर में आया करते थे। इससे शिवानी परेशान थी। नाराज होकर उसने पिता राजेंद्र से बात करना तक बंद कर दिया था। सुल्तानपुर वाला मकान बेचने की जानकारी शिवानी को हुई तो वह नाराज हो गई। जिस कारण उसने अपने पिता राजेंद्र मीणा को मौत के घाट उतारने की साजिश रची।

इसके लिए शिवानी ने अपने प्रेमी अतुल मीणा को साथ मिलाया। वारदात को अंजाम देने लिए 50 हजार की व्यवस्था की। अतुल ने ललित मीणा, देवेंद्र,पवन भील सहित अन्य बदमाशों को साथ लिया। जिसके बाद मौका देखकर वारदात को अंजाम दिया। ललित मीणा, देवेंद्र मीणा, पवन भील के खिलाफ कोटा में अपराधिक मामले दर्ज हैं।

25 जून को तड़के राजेन्द्र मीणा अपनी बाइक से बिसलाई से सुल्तानपुर आ रहा था। रास्ते में बदमाशों ने हथियारों से उस पर पर वार कर दिया और मौके से फरार हो गए। परिजन घायल राजेंद्र को घर लेकर पहुंचे। फिर तबीयत बिगड़ने पर हॉस्पिटल ले गए, जहां उसकी मौत हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

अखिलेश यादव में राजनीतिक परिपक्वता की कमी है: शिवपाल यादव

देहरादून: लखनऊ में शुक्रवार को राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू के सम्मान में मुख्यमंत्री आवास पर आयोजित रात्रि भोज में शिवपाल यादव और ओम प्रकाश राजभर भी पहुंचे थे। दोनों के यहां पहुंचने के बाद सियासी गलियारों में हलचल मची ही थी कि शनिवार को शिवपाल ने अपने […]