हल्द्वानी उपकारागार में युवक की मौत

Ghughuti Bulletin

जेल कर्मचारियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने का आदेश
रुद्रपुर:  कुंडेश्वरी के युवक की हल्द्वानी उपकारागार में हुई मौत के मामले में जेल कर्मचारियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने का आदेश सीजेएम नैनीताल ने दिया है। जानकारी के अनुसार ग्राम कुंडेश्वरी, काशीपुर ( ऊधमसिंह नगर ) के रहने वाले प्रवेश कुमार को 3 मार्च को पुलिस ने पत्नी से मारपीट के आरोप में गिरफ्तार कर 5 मार्च को हल्द्वानी जेल भेज दिया था।

अगले ही दिन शाम 5 बजे प्रवेश के परिवार वालों को सूचना मिली कि जेल में प्रवेश की बीमारी के कारण मौत हो गई है। अगले दिन प्रवेश के परिवार वाले हल्द्वानी जेल पहुंचे तो उन्हें मोर्चरी हाउस हल्द्वानी बुला लिया गया और वही पंचनामा भरकर शव मृतक की पत्नी भारती के सुपुर्द कर दिया गया। प्रवेश की मौत का कोई स्पष्ट कारण नहीं बताया गया।

प्रवेश के अंतिम संस्कार के बाद 13 मार्च को राहुल श्रीवास्तव नानक नाम के व्यक्ति ने भारती को फोन कर बुलाया और रमेश के साथ जेल गई। राहुल ने बताया कि परेशान होने पर प्रवेश ने जेल में हल्ला किया जिस पर जेल के बंदी रक्षकों ने डंडे-पटे और लात घूसो से इतना पीटा कि वह वहीं गिर गया और उसकी मौत हो गई।

इस मामले में भारती की ओर से हल्द्वानी कोतवाली में तहरीर दी गई पर रिपोर्ट दर्ज नहीं हुई। बाद में एसएसपी नैनीताल को भी पत्र दिया गया, इसके साथ ही जिला विधिक सेवा प्राधिकरण को भी पत्र दिया गया है। आख्या तलब की गई इसके बाद मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट नैनीताल की ओर से जेल में तैनात हेड कांस्टेबल देवेंद्र प्रसाद यादव, कृति नैनवाल, देवेंद्र रावत, हरीश रावत पर हत्या का मुकदमा दर्ज करने के आदेश न्यायालय द्वारा किए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

एम्स में ब्लैग फंगस के इलाज में बाधा बनी एम्फोटोरिसिन बी दवा की कमी

महामारी के इलाज में मिल रही केवल 25 प्रतिशत दवाएं चिकित्सालय प्रबंधन ने प्रदेश सरकार से लगाई गुहार ऋषिकेश:  उत्तराखंड में एक तरफ ब्लैग फंगस के मामले बढ़ रहे हैं तो वहीं दूसरी ओर इसकी दवा एम्फोटोरिसिन बी की कमी हो रही है। कमी किसी और ने नहीं बल्कि एम्स […]