दून व ऋषिकेश में चलाया गया डेंगू मलेरिया जन जागरूकता अभियान

Ghughuti Bulletin

देहरादून: नगर निगम देहरादून, ऋषिकेश की टीमों के द्वारा तिलक रोड देहरादून एवं ऋषिकेश में एक घंटे का डेंगू मलेरिया जन जागरूकता अभियान चलाया गया, जिसमें कार्यकर्ताओं द्वारा घर- घर जाकर पंपलेट वितरित कर जन सामान्य को डेंगू मलेरिया से बचाव हेतु जागरूक किया तथा डेंगू मलेरिया की रोकथाम ध्नियंत्रण हेतु प्रभावी निरोधात्मक कार्यवाही के अंतर्गत  लार्विसाइड  इंसेक्टिसाइड का छिड़काव फाॅगिंग कराई गई भ्रमण के दौरान संबंधित क्षेत्रों के अधिकारी , कर्मचारी एवं क्षेत्रीय प्रतिनिधि मौजूद थे अभी तक जनपद देहरादून में कहीं पर भी डेंगू मच्छर का लार्वा एवं डेंगू धनात्मक रोगी नहीं पाया गया है।

ऋषिकेश 16 जून।कोविड-19 के गंभीर मरीजों एवं आईसीयू में भर्ती मरीजों में वाइटल पैरामीटर के रियल टाइम मॉनिटरिंग के लिए जरूरी है कि प्रशिक्षित स्टाफ मरीजों की देखभाल के लिए उपलब्ध रहे, जोकि मौजूदा स्थिति में व्यवहारिक रूप से संभव नहीं हो सकता।

ऐसे में नव वायरलेस टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड द्वारा लाईफाई इनेबल्ड मल्टीपैरामीटर सेंट्रलाइज मॉनिटरिंग सिस्टम का विकास किया गया है, इस प्रोजेक्ट का उद्घाटन विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने एम्स, ऋषिकेश में विधिवत रूप से किया।इस दौरान राज्यसभा सांसद नरेश बंसल, रुड़की विधायक प्रदीप बत्रा भी मौजूद थे।
नव वायरलेस टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड के नेशनल हेड भावेश अटल ने बताया कि कोविड-19 महामारी के इस मुश्किल दौर में देश की सेवा के लिए सरकार के साथ मिलकर काम करने के लिए उनकी टीम ने लाईफाई इनेबल्ड मल्टीपैरामीटर सेंट्रलाइज मॉनिटरिंग सिस्टम का विकास किया है जो वीडियो कॉलिंग फीचर से युक्त  है, आधुनिक लाईफाई तकनीक पर आधारित यह समाधान डॉक्टरों एवं पैरामेडिकल स्टाफ पर बोझ कम कर देगा।उन्होंने बताया कि इसकी मदद से कोविड 19 के मरीजों और विशेष रूप से गंभीर लक्षण वाले मरीजों को समय पर उचित देखभाल मिल सकेगी।नवटेक के लाईफाई आधारित सीएमएस सिस्टम के लिए इंटरनेट कनेक्शन, वाईफाई इंफ्रास्ट्रक्चर की जरूरत नहीं होती है।
इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने नवटेक कंपनी की सराहना करते हुए कहा कि लाईफाई टेक्नोलॉजी कोविड-19 महामारी में अस्पताल में भर्ती मरीजों के लिए इलाज के लिए मददगार साबित होगी वहीं मेडिकल स्टाफ के लिए भी यह पद्धति सहयोग प्रदान करेगी साथ ही मेडिकल स्टाफ की सुरक्षा भी सुनिश्चित करेगी।

इस अवसर पर राज्यसभा सांसद नरेश बंसल ने कहा कि लाईफाई हॉस्पिटल समाधान सेंट्रलाइज मॉनिटरिंग स्टेशन की मदद से गंभीर रूप से बीमार मरीजों के वाइटल पैरामीटर्स पर 24 घंटे लगातार नजर रखी जा सकती है।

वही प्रशिक्षित स्टाफ एक साथ कई मरीजों पर निगरानी भी रख सकता है जिसके लिए उन्हें आईसीयू वार्ड में मरीजों के नजदीक रहने की जरूरत भी नहीं है और मेडिकल स्टाफ में इंफेक्शन होने का खतरा भी कम बना रहता है।

वहीं विधायक प्रदीप बत्रा ने कहा कि लाईफाई समाधान से  मरीजों के रिश्तेदारों के लिए वीडियो कॉलिंग भी उपलब्ध कराई जाती है जिसे आइसोलेशन में रह रहे मरीजों के तीमारदारों को मरीज के स्वास्थ्य की जानकारी लगातार मिलती रहती है।इस अवसर पर नव बायरलेस टेक्नोलॉजी प्राइवेट लिमिटेड के नेशनल हेड अर्पित अकेला भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

मैक्स खाई में गिरने से 3 की मौत

-पौड़ी के द्वारीखाल के पास हुआ हादसा -मृतक सिलोगी से अपने गांव अमोला जा रहे थे -ब्लाॅक प्रमुख महेंद्र नेे सरकार से की मुतकों के परिजनों को मुआवजा देने की मांग कोटद्वार: पौड़ी जिले के द्वारीखाल के सिलोगी-जाखणीखाल-अमोला मोटर मार्ग पर मैक्स वाहन दुर्घटनाग्रस्त होने से तीन लोगों की मौत […]