जम्मू-कश्मीर के सुधरते हालात से,आतंकी सरगनाओं में हताशा: डीजीपी दिलबाग सिंह

Ghughuti Bulletin

जम्मू-कश्मीर: पुलिस महानिदेशक जम्मू-कश्मीर दिलबाग सिंह ने वहां के सुधरते हालात से पाकिस्तान में बैठे आतंकी सरगना के हताश होने की आशंका जतायी हैI डीजीपी ने कहा कि कश्मीर में पाकिस्तानी आतंकियों की मौजूदगी के साथ हाल ही में सरहद पार से हथियारों की तस्करी के प्रयासों में हुई बढ़ोतरी से, इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि आतंकियों में बौखलाहट हैI

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह, सांबा की पल्ली पंचायत में होने वाली प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की रैली को लेकर, सुरक्षा प्रबंधों का जायजा लेने पहुंचे थेI इस दौरन उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि, प्रदेश में हालात पहले से कहीं ज्यादा बेहतर हैं। अब आतंकी किसी वारदात को अंजाम देने के बाद ज्यादा देर तक जिंदा नहीं रहते। सुरक्षाबल उन्हें कम से कम समय में तलाश कर पकड़ लेते हैं या फिर उन्हें किसी मुठभेड़ में मार गिराते हैं।

पुलिस महानिदेशक ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में सुधरते हालात से पाकिस्तान में बैठे आतंकी सरगना हताश हैं। इसका अंदाजा हाल ही में सरहद पार से हथियारों की तस्करी के प्रयासों में हुई बढ़ोतरी और कश्मीर में पाकिस्तानी आतंकियों की मौजूदगी से लगाया जा सकता है।

उन्होंंने पुलवामा में रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स के जवान पर आतंकी हमले के सवाल पर कहा कि, इसकी जिम्मेदारी बेशक दो नए आतंकी संगठनों, कश्मीर टाइगर्स फोर्स और कश्मीर फ्रीडम फाइटर्स ने ली है, लेकिन यह सभी लश्कर से ही जुड़े हैं और सीमा पार बैठे अपने हैंडलरों के हु़कम पर ही वारदात को अंजाम दे रहे हैं।

कहा कि जिस तरह से बरसात में कुकरमुत्ते उग आते हैं, उसी तरह कश्मीर में भी कई आतंकी संगठन अचानक पैदा हो जाते हैं और किसी एक वारदात की जिम्मेदारी तीन से चार संगठन लेते हैं। इससे वह सुरक्षाबलों के लिए भ्रम की स्थिति पैदा करते हैं। ऐसे संगठनों की जमीन पर कोई मौजूदगी नहीं होती। हम आतंकियों की इस रणनीति से अच्छी तरह अवगत है। इन वारदातों को जिसने भी अंजाम दिया है, उन्हें चिन्हित कर लिया गया है, वह जल्द ही मारे जाएंगे।

कुपवाड़ा में हथियारों की बरामदगी पर उन्होंने कहा कि पाकिस्तान हथियारों की तस्करी को जम्मू कश्मीर में करने की साजिश में जुटा हुआ है। पिस्तौलधारी आतंकी ही शहरी इलाकों में टार्गेट किलिंग को अंजाम देते हैं। हम ऐसे सभी माड्यूल को नष्ट करने के लिए काम कर रहे हैं।

श्रीनगर से दिल्ली के लिए रवाना होने वाली विमान सेवा में बम की अफवाह संबंधी सवाल पर पुलिस महानिदेशक ने कहा कि इस पूरे मामले की जांच जारी है। एयरपोर्ट की सुरक्षा का जिम्मा संभालने वाली समिति ने भी इस मामले की जांच की है। जिस नंबर और जगह से फोन आया था, उसका पता लगाया जा चुका है। जल्द ही जांच पूरी कर इस मामले का सच सामने आएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

नई शिक्षा नीति के साथ होगी,पारदर्शी स्थानांतरण नीति भी तैयार: शिक्षा मंत्री

देहरादून: राज्य के शिक्षा मंत्री डा धन सिंह रावत ने सूबे में नई शिक्षा नीति को जल्द अंतिम रूप दिये जाने की बात कही है। कहा राष्ट्रीय शिक्षा नीति से जोड़कर उत्तराखंड के लिए अलग से नीति तैयार की जा रही है। जिसमें प्राथमिक से लेकर माध्यमिक तक सरकारी विद्यालयों […]