भूस्खलन के चलते प्रदेश में 437 सड़कें अवरुद्ध

Ghughuti Bulletin

देहरादून: उततराखंड में पिछले तीन दिनों से लगातार हो रही भारी बारिश से सड़कें बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई हैं।

रविवार को नेशनल हाईवे, राज्य मार्ग, जिला मार्ग और ग्रामीण सड़कों को मिलाकर कुल 437 सड़कें बंद चल रही हैं। इस वजह से राज्य भर में लोगों को आवाजाही में भारी परेशानियों का सामना उठाना पड़ा।

लोक निर्माण विभाग के प्रमुख अभियंता हरिओम शर्मा ने बताया कि रविवार सुबह तक राज्य भर में कुल 437 सड़कें बंद थी और इन्हें खोलने के प्रयास किए जा रहे थे।

उन्होंने कहा कि रविवार को कई स्थानों पर मौसम साफ होने की वजह से सड़क खोलने के काम में तेजी आई। उन्होंने कहा कि सड़कों को खोलने के लिए लोक निर्माण विभाग की ओर से प्रदेश भर में 450 जेसीबी व अन्य भारी मशीनों को लगाया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य की प्रमुख सड़कों को 12 घंटे के भीतर खोलने का लक्ष्य रखा गया है।

चमोली जिले में बारिश ने जमकर कहर बरपाया है। जिले में बदरीनाथ हाईवे समेत 87 सड़कें बंद हो गई है। कई इलाकों का जिला मुख्यालय समेत बाकी इलाकों से संपर्क कट गया है।

बदरीनाथ हाईवे चटवापीपल, कर्णप्रयाग बाबा आश्रम, क्षेत्रपाल, टंगणी, काली मंदिर जोशीमठ, गोविंदघाट में अवरुद्ध हुआ था, जिसे खोल दिया गया है। पर हाईवे अभी भी रंड़ाग ग्लेशियर प्वाइंट, कंचनजंगा और लामबगड़ में बंद है। जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी एनके जोशी ने बताया कि बंद मार्गों को खोलने का कार्य युद्ध स्तर पर किया जा रहा है। बदरीनाथ हाईवे कई स्थानों पर बाधित हुआ है।

कर्णप्रयाग-गैरसैंण मार्ग भी मालसी के पास बंद पड़ा है। कर्णप्रयाग-थराली मार्ग आमसौड़ में थराली तिराहे के पास बाधित हुआ है। ऋषिकेश-श्रीनगर राजमार्ग संख्या 58 शिवपुरी के पास सुबह से बंद था, जिसे दोहपर में खोल दिया गया है। जनपद में दो ग्रामीण संपर्क सड़क मार्ग भी बंद हैं, जिन्हें शाम तक खोल दिया जायेगा।

राजमार्ग संख्या 58 को वाहनों की आवाजाही के लिए खोल दिया गया है। ग्रामीण मार्गों को खोलने का काम जारी है। यहां पर जेसीबी काम कर रही हैं। बीते 24 घंटों में औसतन 27.6 एमएम बारिश हुई है।

देवप्रयाग व मायाकुंड मुनिकीरेती में गंगा जल स्तर नियंत्रण रेखा में बह रहा है। देवप्रयाग में जल स्तर 460.10 मीटर और मायाकुंड मुनिकीरेती में 339.8 मीटर है। जो कि खतरे के निशान से नीचे है। रविवार को भी सुबह से बारिश होती रही। लगातार तीन दिनों से हो री बारिश से जनजीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया है।

बारिश से जिले के 94 मोटरमार्गों पर आवाजाही बंद हो गई है। जिनमें ग्रामीण, जिला व अन्य जिला मोटरमार्ग शामिल है। मोटरमार्गों के बंद होने से इन मोटरमार्गों से जुड़े ग्रामीण परेशान हैं।

बारिश के चलते कई आवासीय भवनों को भी खतरा पैदा हो गया है। रविवार को सुबह से ही बारिश होती रही। लगातार हो रही बारिश से जिले के 94 मोटरमार्गों पर यातायात ठप पड़ा हुआ है। इन मोटरमार्गा पर मलबा व बोल्डर आने से यातायात बंद हो गया है।

हालांकि इन मोटरमार्गों को खोलने के लिए जेसीबी लगी हुई है लेकिन रूक-रुक कर हो रही बारिश से मोटरमार्गों को खोलने में दिक्कतें हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

राज्यपाल ने दी अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस की शुभकामनाएँ

देहरादून:  राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर प्रदेशवासियों को शुभकामनाएँ दी हैं। राज्यपाल श्रीमती मौर्य ने अपने संदेश में कहा कि एक लम्बे समय से पूरी दुनिया कोरोना वायरस के संक्रमण के खिलाफ लड़ रही है। महामारी ने मानव जीवन को कई तरह से प्रभावित […]