वाहन चेकिंग के दौरान पशु तस्करों ने महिला सब-इंस्पेक्टर को बेरहमी से कुचला

Devendra Budakoti

देहरादून: झारखंड की राजधानी रांची से एक हैरान करने वाली घटना सामने आई है I जहां पशु तस्करों ने संध्या टोपनो नाम की एक महिला सब-इंस्पेक्टर को वाहन चेकिंग के दौरान कुचलकर मार डाला। टोपनो तुपुदाना ओपी के प्रभारी के पद पर तैनात थीं।

आरोपी को गिरफ्तार कर वाहन सीज कर लिया गया है। रांची के एसएसपी ने इसकी जानकारी दी। यह घटना बुधवार की सुबह तीन बजे की बताई जा रही है। घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर थाना प्रभारी समेत कई पुलिसकर्मी ने पहुंचकर दरोगा के शव को अपने कब्जे में ले लिया। 

जानकारी के मुताबिक तुपुदाना में एंटी क्राइम चेकिंग चलाया जा रहा था। इसी दौरान ड्यूटी पर तैनात दरोगा संध्या टोपनो ने पिकअप वैन को रुकने का इशारा किया, लेकिन ड्राइवर ने गाड़ी रोकने के बजाय दरोगा के ऊपर गाड़ी चढ़ा दी और वहां से फरार हो गया। हालांकि कुछ देर बाद ही चालक को गिरफ्तार कर लिया गया।

बताया जा रहा है कि सिमडेगा पुलिस को क्षेत्र में पशु तस्करों की सूचना मिली थी। जिसके बाद इसकी सूचना रांची पुलिस को दी गई। रांची पुलिस ने खूंटी रांची सीमा के तुपुदाना ओपी क्षेत्र के स्थित हुलहुन्दू के पास चैकिंग शुरू की । इसी दौरान बुधवार की सुबह करीब तीन बजे तेजी से एक सफेद रंग की पिकअप वैन आते दिखी। चैकिंग पोस्ट पर तैनात सब-इंस्पेक्टर संध्या टोपनो ने गाड़ी रुकने का इशारा किया, लेकिन चालक ने गाड़ी महिला दरोगा के ऊपर चढ़ा दी और भागने लगा। जिससे महिला दरोगा गंभीर रूप से घायल हो गई फिर अस्पताल ले जाते वक्त उसकी मौत हो गई।

वहीं घबराया हुआ गाड़ी चालक वाहन लेकर भागने लगा लेकिन गश्ती दल ने पीछा किया जिससे उसने पिकअप वैन की रफ्तार और बढ़ा दी। लेकिन अधिक रफ्तार होने के चलते पिकअप गाड़ी रिंग रोड में पलट गई। बताया जाता है कि गाड़ी से कई तस्कर कूदकर भाग गए। चालक पुलिस की गिरफ्त में है। अन्य आरोपियों की तलाश जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

वामपंथी संगठनों की सक्रियता को लेकर एसएसपी ने पुलिस और एलआईयू टीम को कड़ी निगरानी के दिए निर्देश

देहरादून: उधम सिंह नगर के सिडकुल क्षेत्र में वामपंथी संगठनों की सक्रियता को लेकर एसएसपी ने उनकी गतिविधियों पर पुलिस और एलआईयू टीम को कड़ी निगरानी रखने के निर्देश दिए हैंl जिले में पहले भी वामपंथी संगठनों की सक्रियता के कई प्रमाण मिले हैं l पुलिस तराई में कई वामपंथियों […]