किसान पथ और अग्नि पथ एक है, इसलिए देशभर में दोनों को लेकर एक साथ संघर्ष किया जाएगा: राकेश टिकैत

Ghughuti Bulletin

देहरादून: अग्निपथ योजना के विरोध में भारतीय किसान यूनियन टिकैत गुट के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने अपना एक बयान जरी किया हैंI उन्होंने कहा कि किसान पथ और अग्नि पथ एक है। इसलिए देशभर में दोनों को लेकर अब एक साथ संघर्ष किया जाएगा। किसानों के बच्चे ट्रैक्टर लेकर संघर्ष करने के लिए आगे आएंगे। 

भाकियू टिकैत गुट के तीन दिवसीय किसान महाकुंभ में पहुंचे राकेश टिकैत ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान अग्नि पथ पर बड़ा आंदोलन करने का एलान किया हैं। उन्होंने कहा चार साल अग्निपथ के तहत अग्निवीर बनने के बाद बच्चे कहां जाएंगे। अग्निपथ जैसी योजना चलाकर सरकार बेरोजगार युवाओं के साथ मजाक कर रही है। क्योंकि चार साल बाद बच्चों को घर भेज दिया जाएगा। इसके बाद बेरोजगार होकर युवा कहां जाएगा और वह क्या करेगा।

उन्होंने कहा कि देश का नौजवान पूछ रहा है कि हम चार साल बाद कहां जाएंगे। इसके बाद का रास्ता तो बताएं। 

राकेश टिकैत ने कहा कि युवाओं को चार साल के लिए नौकरी दी जा रही है तो ऐसा भी नियम बनाए जाए कि कोई भी व्यक्ति एक बार ही विधायक और सांसद बने। एक बार चुनाव जीतने के बाद दोबारा चुनाव लड़ने पर पाबंदी लगे।

उन्होंने सवाल किया कि वह क्यों एक नहीं नौ-नौ बार तक बनते रहते हैं। चार-चार साल के लिए नौकरी देकर नौजवानों पर क्या सरकार कंट्रोल करना चाहती है। उन्हें कागजों में एक बार नौकरी देकर अपना पीछा छुड़ाना चाहती है। 

उन्होंने कहा कि सात राज्यों में किसानों को फ्री बिजली दी जा रही है। जब एमएसपी पूरे देश के लिए एक होता है तो बिजली के दाम सभी प्रदेशों में अलग-अलग क्यों हैं। बिजली के दाम भी एक किए जाएं। जब तक एमएसपी गारंटी कानून लागू नहीं होता होता तब तक बिजली और नहरों का पानी फ्री दिया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

रुड़की में लापरवाही और ऑक्सीजन की कमी की वजह से मरीजों की मौतें हुई: भाजपा विधायक प्रदीप बत्रा

देहरादून: कोविड के दौरान हो रहीं मौतों पर भाजपा विधायक प्रदीप बत्रा ने अपनी ही सरकार पर सवाल उठाया हैं। विधानसभा सत्र में बत्रा ने कहा कि रुड़की में लापरवाही और ऑक्सीजन की कमी की वजह से मरीजों की मौतें हुईं हैं। सरकार ने दावा किया था कि कोविड काल […]