दस साल से फरार इनामी को एसटीएफ ने दबोचा

Ghughuti Bulletin

भाई की हत्या करने के बाद चल रहा था फरार

दिल्ली व मुरादाबाद में काट रहा था फरारी

कोर्ट ने सुनाइ थी उम्र कैद की सजा

देहरादून:  अपने भाई की हत्या के आरोप में 10 साल से फरार चल रहे इनामी बदमाश अंसार को कुमाऊं एसटीएफ ने मुरादाबाद से गिरफ्तार किया है।

एसटीएफ टीम को सूचना मिली थी कि हत्या का आरोपी मुरादाबाद में रह रहा है। जिसे टीम ने दबिश देते हुए गिरफ्तार कर लिया। वहीं, आज आरोपी को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है।

एसटीएफ कुमाऊं इंचार्ज एमपी सिंह ने बताया कि आरोपी ने 2011 में उधम सिंह नगर जनपद के थाना आईटीआई में अपने चार भाइयों के साथ मिलकर अपने पांचवें भाई अब्दुल खालिद की हत्या कर दी थी।

घटना के बाद पुलिस ने दो भाइयों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। जबकि तीसरे भाई को वर्ष 2019 में एसटीएफ टीम ने गिरफ्तार किया था। मामले में आरोपी आफताब, अंजार हरिद्वार जेल में आजीवन कारवास की सजा काट रहे हैं। जबकि अजीम हल्द्वानी जेल में बंद है। वहीं, हत्याकांड को अंजाम देकर चैथा आरोपी अंसार अली उर्फ भूरा फरार चल रहा था।

मुखबिर की सूचना पर चैथे आरोपी अंसार को जामा मस्जिद प्रेम वाली गली कस्बा पाकवाड़ा मुरादाबाद से गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह हत्याकांड को अंजाम देने के बाद दिल्ली और मुरादाबाद में छुप कर रह रहा था।

एसटीएफ कुमाऊ इंचार्ज एमपी सिंह ने बताया कि हत्या के आरोपी को 10 साल बाद एसटीएफ कुमाऊं टीम ने मुरादाबाद, उत्तर प्रदेश से गिरफ्तार किया है। आरोपी को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया गया है। आरोपी पर पांच हजार का इनाम भी रखा गया था।

एसटीएफ ने वर्ष 2020 में दबोचे 24 फरार ईनामीः अजय सिंह

एसटीएफ एसएसपी अजय सिंह

उत्तराखंड एसटीएफ एसएसपी अजय सिंह के मुताबिक राज्य में फरार चल रहे इनामी अपराधियों की धरपकड़ का अभियान लगातार जारी है। 2020 में अब तक 24 से अधिक इनामी अपराधियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। गिरफ्त में आए अधिकांश ऐसे बदमाश हैं, जो कई वर्षों से फरार चल रहे थे। एसटीएफ वांटेड अपराधियों की धरपकड़ की कार्रवाई लगातार कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

वाहन खाई में गिरने से चार सैन्यकर्मियों की मौत, सीएम ने जताया दुख

देहरादून:  सिक्किम में सेना की गाड़ी खाई में गिरने से चार सैन्यकर्मियों की मौत हो गई, जबकि दो घायल हो गए। सूत्रों के अनुसार, बताया जा रहा है कि यह सभी कुमाऊं रेजीमेंट के सैन्यकर्मी थे। इनमें एक रामनगर और एक रानीखेत का बताया जा रहा है। सेना के एक […]