ग्लेशियर हादसाः दस की मौत,आठ अब भी लापता,रेस्क्यू जारी

Ghughuti Bulletin

-राहत-बचाव-कार्य अभी भी जारी

-सेना के चीता हेलीकॉप्टर की ली जा रही मदद

चमोली:  चमोली तपोवन के रैणी क्षेत्र के बाद अब नीती घाटी के चीन-तिब्बत सीमा पर सुमना में हिमस्खलन की घटना हुई। इस हादसे में बीआरओ के कैंप पूरी तरह तबाह हो गए। बीते 23 अप्रैल को आए हिमस्खलन की घटना में अब तक 10 व्यक्तियों की मौत हो चुकी है।

घटनास्थल पर बीआरओ के लेबर कैंप में 402 लोग थे। घटना में 8 लोग लापता बताऐ जा रहे हैं। जिनकी तलाश के लिए राहत बचाव कार्य युद्धस्तर पर चल रहा है। वहीं अब तक 384 लोगों को बचाया जा चुका है। रेस्क्यू के लिए भारतीय सेना के चीता हेलीकॉप्टर की मदद ली जा रही है, बचाव-राहत कार्य अभी भी जारी है।

चमोली जिले में भारत-चीन सीमा से लगे क्षेत्र सुमना में बीआरओ के कैंप के पास ग्लेशियर टूटकर मलारी-सुमना सड़क पर आ गया था। जिसमें काफी नुकसान हुआ है।

वहीं, मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने भी घटना स्थल का हवाई निरीक्षण कर हालातों का जायजा लिया था। सेना के हेलीकॉप्टर के जरिए 6 घायलों को जोशीमठ आर्मी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जबकि एक शख्स को आर्मी अस्पताल देहरादून रेफर किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

महिला की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

हरिद्वार: पंचवटी अपार्टमेंट में एक महिला की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। लेकिन महिला के कोरोना संदिग्ध होने के शक पर काफी असमंजस की स्थिति बनी रही। आखिरकार सूचना पर पहुंची पुलिस टीम ने कमरे का दरवाजा तोड़कर महिला के शव को बाहर निकाला। जिसके बाद पुलिस टीम ने […]