कोविड कर्फ्यू के दौरान मसूरी में रिक्शा चालकों का हाल बेहाल

Ghughuti Bulletin

मसूरी:  कोविड कर्फ्यू के चलते मसूरी में दिहाड़ी मजदूरी, रिक्शा चालक, पटरी व्यवसायी और कुली का काम करने वाले लोगों पर रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है।

रिक्शा चालकों की मानें तो पिछले एक माह से वो बिना काम के बैठे हैं। पर्यटकों के मसूरी ना आने के कारण उनका व्यवसाय ठप हो रहा है। इस कारण उनके परिवार का पालन पोषण करने में खासी दिक्कत हो रही है।

रिक्शा चालकों ने सरकार से कई बार आर्थिक मदद की गुहार लगाई, लेकिन उनका आरोप है कि सरकार इस ओर ध्यान नहीं दे रही है। इससे रिक्शा चालकों में सरकार के प्रति काफी आक्रोश व्याप्त है।

रिक्शा चालकों ने बताया कि क्षेत्रीय विधायक और कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी को भी कई बार समस्याओं के बारे में अवगत कराया है, लेकिन उनके द्वारा भी उनकी कोई मदद नहीं की गई है।

उन्होंने बताया कि पिछले साल भी उनको भारी नुकसान झेलना पड़ा है। उनके पास इतना पैसा नहीं है कि वह अपने रिक्शा की मरम्मत करा सकें. इसको लेकर उन्होंने नगर पालिका प्रशासन से मांग की थी कि उनके रिक्शों को ठीक कराने में उनकी मदद की जाए। लेकिन कुछ नहीं हुआ, जिससे वह काफी मायूस हैं।

ऐसे में एक बार फिर रिक्शा चालकों ने सरकार और नगर पालिका से मदद की गुहार लगाई है. साथ ही सरकार से आर्थिक मदद की गुहार लगाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

तीर्थपुरोहितो ने प्रदर्शन कर फूंका पर्यटन मंत्री का पुतला

चमोली: पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज के देवस्थानम बोर्ड पर पुनर्विचार नहीं करने के बयान से तीर्थ पुरोहितों में रोष पैदा हो गया है। गंगोत्री धाम में तीर्थ पुराहितों ने सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया और पुतला फूंका। वहीं, चमोली में भी तीर्थ पुरोहितों ने पर्यटन मंत्री के खिलाफ प्रदर्शन […]

You May Like