एचडीएफसी बैंक परिवर्तन ने उत्तराखंड में 8.4 लाख लोगों की बदली जिंदगी

Ghughuti Bulletin

बैंक ने परिवर्तन इम्पैक्ट रिपोर्ट फॉर उत्तराखंड (उत्तराखंड के लिए परिवर्तन का प्रभाव) रिपोर्ट जारी की

देहरादून: एचडीएफसी बैंक ने आज उत्तराखंड राज्य की रुपरिवर्तन प्रभाव रिपोर्ट को जारी किया। हैज परिर्वतन रिपोर्ट राज्य में अपनी कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी के हिस्से के रूप में बैंक द्वारा की गई कई नई पहलों के प्रभावों को प्रदर्शित करती है। एचडीएफसी बैंक हैज परिवर्तन, बैंक द्वारा किए गए सभी सामाजिक जिम्मेदारी पहलों के लिए एक संपूर्ण ब्रांड, ने उत्तराखंड राज्य भर के 8.4 लाख लाख लोगों का जीवन बदल दिया है।

शहर में आयोजित एक समारोह में, हैज परिवर्तन इम्पैट रिपोर्ट फॉर उत्तराखंड (उत्तराखंड के लिए हैज परिर्वतन प्रभाव रिपोर्ट) अखिलेश कुमार रॉय, शाखा बैंकिंग प्रमुख (ब्रांच बैंकिंग हैड), एचडीएफसी बैंक और सीएसआर स्टेट हेड अरविंद सिंह, एचडीएफसी बैंक द्वारा अन्य वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में जारी की गई।

नुसरत पठान, प्रमुख, कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व, एचडीएफसी बैंक ने कहा कि “हम उत्तराखंड राज्य के लिए परिवर्तन रिपोर्ट जारी करते हुए खुश हैं।” उन्होंने कहा कि “सतत विकास तब होता है जब एक लंबे समय तक की अवधि में परिवर्तन करने की प्रतिबद्धता होती है। हम दृढ़ता से मानते हैं कि बैंक को समाज के सभी हितधारकों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा होना है। हम अकेले व्यापक बदलाव नहीं कर सकते, लेकिन साथ में हम निश्चित रूप से हैज परिवर्तन ला सकते हैं।

अखिलेश कुमार रॉय, ब्रांच बैंकिंग हैड, एचडीएफसी बैंक ने कहा कि “उत्तराखंड में, हम न केवल अपने ग्राहकों के लिए उत्पादों और सेवाओं का पूरा सुइट प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं, बल्कि राज्य में व्यक्तियों और परिवारों के जीवन में सार्थक बदलाव लाने के लिए भी काम करते हैं।” उन्होंने कहा कि “रिपोर्ट में हैज परिवर्तन पहल के तहत विभिन्न नई पहलों में बैंक द्वारा राज्य में किए गए कार्यों को दिखाया गया है।

एचडीएफसी बैंक परिवार के हिस्से के रूप में, गांव का गहन मूल्यांकन इसकी विकासात्मक आवश्यकताओं को समझने के लिए किया जाता है। इन जरूरतों को एक स्थायी और प्रभावी तरीके से संबोधित करने के लिए, बैंक एक एनजीओ और स्थानीय समुदाय के साथ साझेदारी में दीर्घकालिक समाधान बनाता है जिसमें छोटे किसान, युवा, भूमिहीन मजदूर, बच्चे और महिलाएं शामिल हैं। राष्ट्रीय स्तर पर, वित्त वर्ष 2019-20 में, बैंक ने एचडीएफसी बैंक परिवार के लिए 535 करोड़ रुपये खर्च किए और बैंक ने 31 दिसंबर, 2020 तक देश भर में 81 मिलियन से अधिक व्यक्तियों को इस अभियान के तहत कवर किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

एनआरएलएम के तहत कार्य कर रहे समूह को नहीं मिल पा रहा समुचित लाभः मोर्चा  

विकासनगर:  समूह के रूप में कार्य कर रही महिलाओं ने योजना का शत प्रतिशत लाभ जरूरतमंदों को दिए जाने, योजनाओं का लाभ कुछ खास चेहतों को दिए जाने के खिलाफ एवं अनियमितता को लेकर जन संघर्ष मोर्चा अध्यक्ष एवं जीएमवीएन के पूर्व उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी के सम्मुख अपनी समस्याओं […]