बूढ़ाकेदार में भारी बारिश ने मचाई तबाही, रात भर जंगल में फसे रहे कांवड़ यात्री

Devendra Budakoti

देहरादून: भिंलगना ब्लॉक के बूढ़ाकेदार क्षेत्र में बीती रात को हुई भारी बारिश के कारण जमकर तबाही मची है। धर्म गंगा नदी का जलस्तर खतरे के निशान के ऊपर आ गया है। जिस कारण नदी का पानी रगस्या और भौंदी गांव के खेतों तक पहुंच गया है। साथ ही नदी के बहाव के कारण बूढ़ाकेदार-पिंस्वाड़ मोटर मार्ग का एक बड़ा हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया है।

भारी बारिश के कारण गंगोत्री से जलभरकर लौट रहे उत्तर प्रदेश के 22 कांवड़ यात्री बेलक-बूढ़ाकेदार पर रातभर फंसे रहे। बारिश के कारण वह रास्ता भटक गए। जिसकी सूचना उन्होंने प्रशास को दी। बुधवार तड़के एसडीआरएफ और राजस्व पुलिस की टीम ने 22 कांवड़ यात्रियों को बेलक के पास से रेस्क्यू कर सकुशल निकाला है।

राजस्व उपनिरीक्षक बूढ़ाकेदार जीएस रावत ने बताया कि इन यात्रियों में तीन महिला और 19 पुरूष शामिल हैं।

उन्होंने बताया कि कांवड़ यात्री पैदल यात्रा मार्ग गंगोत्री से जल भरकर त्रिज्युगीनारायण-भटवाड़ी-बेलक-बूढ़ाकेदार से बूढ़ाकेदार पहुंचते हैं। इसके बाद वह घनसाली होकर पीपलडाली, कोटी, चंबा होते हुए ऋषिकेश जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के भागने के बाद से श्रीलंका की स्थिति और बिगडी

देहरादून: श्रीलंका में राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के भागने के बाद से वहां की स्थित और बिगड़ गई है। सूत्रों के अनुसार, देश में आपातकाल की घोषणा कर दी गई है। साथ ही प्रधानमंत्री रनिल विक्रमसिंघे को कार्यवाहक राष्ट्रपति बनाया गया है। राजधानी कोलंबों में भी हालात काबू से बाहर होते […]