18 जुलाई से राज्य के कई जिलों में भारी बारिश का येलो अलर्ट जारी

Devendra Budakoti

देहरादून: मौसम विभाग ने 18 जुलाई से राज्य में एक बार फिर बारिश में तेजी आने का अनुमान लगाया है। नैनीताल, चंपावत, बागेश्वर, पिथौरागढ़ जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश हो सकती है। इन जिलों के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग के मुताबिक राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों में कुमाऊं मंडल के अधिकांश स्थान व गढ़वाल मंडल में कहीं-कहीं स्थानों में हल्की से मध्यम बारिश, कहीं कहीं भारी से भारी बारिश हो सकती है। 

मौसम निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि 15, 16, 17 को बारिश को लेकर कोई अलर्ट नहीं है। लेकिन पर्वतीय क्षेत्रों के साथ देहरादून, टिहरी, पौड़ी, नैनीताल व चंपावत में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। लेकिन 18 से एक बार फिर बारिश में तेजी आने का अनुमान है।

श्रीनगर में गुरुवार को अलकनंदा नदी का जल स्तर चेतावनी स्तर से ऊपर रहा। सुबह साढ़े नौ बजे जल स्तर 535.40 मीटर पर पहुंच गया। जबकि चेतावनी स्तर 535 व खतरे का स्तर 536 मीटर है। ऋषिकेश में भी गंगा चेतावनी निशान को छूकर बही। हरिद्वार में गंगा में गाद बढ़ने के कारण गंगनहर बंद करनी पड़ी।

लगातार बारिश से 173 सड़के बंद 

उत्तराखंड में बारिश से 173 सड़कें बंद हो गई जिससे लोगों को आवाजाही में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लोनिवि की रिपोर्ट के अनुसार गुरुवार को राज्य में कुल 214 सड़कें बंद थी जिसमें से 41 सड़कों को देर सांय तक खोल दिया गया जिसके बाद अब 173 सड़कों को खोलना बाकी रह गया है। विभाग की रिपोर्ट के अनुसार गुरुवार को राज्य में एक एनएच, 10 स्टेट हाईवे बारिश की वजह से बंद थे। इन सड़कों को खोलने के लिए 240 जेसीबी मशीनों को तैनात किया गया है। लोनिवि के एचओडी अयाज अहमद ने बताया कि सड़कों को खोलने के प्रयास किए जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

बच्चे सात बजे स्कूल जा सकते हैं तो जज और वकील नौ बजे कोर्ट क्यों नहीं: न्यायाधीश SC

देहरादून: सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश यू यू ललित ने आज शुक्रवार को तय समय से एक घंटे पहले कोर्ट की कार्यवाही शुरू कर दी| इस दौरान उन्होंने कहा कि बच्चे सात बजे स्कूल जा सकते हैं तो जज और वकील नौ बजे कोर्ट क्यों नहीं आ सकते| बता दें, सुप्रीम कोर्ट […]