इंसानियत शर्मसारःबीमार महिला और बेटे का परिजनों ने छोड़ा साथ

ऋषिकेश:  उत्तराखंड में कोरोना का कहर जारी है। कोरोना महामारी के इस दौर में लगातार इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटनाएं सामने आ रही हैं। एक बार फिर ऋषिकेश में ऐसा ही मामला सामने आया है।

जहां एक बुजुर्ग महिला और उसके बेटे की तबीयत खराब थी, लेकिन मदद के लिए न पड़ोसी आए और न ही उसके सगे भाई आए। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने मां-बेटे को आपातकालीन सेवा से एसपीएस राजकीय चिकित्सालय में भर्ती कराया।

जहां जांच में बुजुर्ग महिला कोरोना पॉजिटिव पायी गई व बेटे की रिपोर्ट निगेटिव आई है। डॉक्टरों की मदद से उन्हें ऑक्सीजन लगवाई गई।

कोतवाल रितेश शाह के मुताबिक फिलहाल दोनों की हालत स्थिर है। उन्होंने बताया कि यह घटना ऋषिकेश के हरिधाम कॉलोनी स्थित गली नंबर-1 की है।

एक शख्स ने पुलिस को कॉल कर हरीधाम कॉलोनी निवासी बुजुर्ग संतोष (80) और उनके बेटे मनीष जैन (56) की तबीयत बिगड़ने की सूचना दी थी।

सूचना मिलते ही तत्काल पुलिसकर्मियों को मौके पर रवाना किया गया। ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए उन्हें तुरंत सरकारी अस्पताल में भर्ती कराकर ऑक्सीजन उपलब्ध कराई गई।

उन्होंने बताया कि फिलहाल मां और बेटे की हालत स्थिर है. मनीष के दो भाई दिल्ली रहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

प्रधानमंत्री मोदी ने सीएम से ली कोरोना संक्रमण की जानकारी

देहरादून:  उत्तराखंड में तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत से फोन पर जानकारी ली। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने उन्हें पूरी स्थिति के बारे में बताया। कोविड के लगातार बढ़ रहे मामलों को देखते हुए प्रदेश में […]