हरिद्वार में 2 करोड़ की लूट का खुलासा, ताऊ गैंग के 5 कुख्यात गिरफ्तार, माल बरामद

Ghughuti Bulletin

हरिद्वार:  हरिद्वार के ज्वालापुर में शहर की अब तक की सबसे बड़ी डकैती मामले में उत्तराखंड पुलिस को एक बार फिर बड़ी सफलता हाथ लगी है। घटना के 48 घंटे बाद ही इस घटना के खुलासे के दूसरे चरण में एसटीएफ और पुलिस की टीम ने इस बड़ी वारदात को अंजाम देने वाले ताऊ गैंग के पांच अन्य अज्ञात बदमाशों को भी गिरफ्तार कर लिया है।

गिरफ्तार होने वालों में सतीश चौधरी (पुत्र महेंद्र निवासी थाना सलेमपुर जिला बुलंदशहर), अमित उर्फ फौजी (पुत्र किरण पाल निवासी थाना भवन शामली), संजय उर्फ राजू (पुत्र तेजवीर निवासी ग्राम बसोदी थाना शिकारपुर जिला बुलंदशहर), नितिन मलिक (पुत्र सुरेंद्र सिंह निवासी ग्राम कुरमाली थाना शामली) और विकास उर्फ हिमांशु निवासी रोहिणी दिल्ली शामिल हैं।

वारदात को अंजाम देने वाला मास्टरमाइंड बुलंदशहर का कुख्यात सतीश चौधरी है, जो पूरे नॉर्थ इंडिया में इस तरह की वारदातों को अंजाम देने के लिए जाना जाता है।

पुलिस की गिरफ्त में आए शातिर अपराधियों से एक करोड़ की कीमत के गहने, भारी मात्रा में असलहे और 10 लाख कैश बरामद किया गया है। बता दें कि इस डकैती मामले में अब तक ताऊ गैंग के 8 बदमाश गिरफ्तार हो चुके हैं। इससे पहले तीन आरोपी गिरफ्त में आए थे, जिनसे लाखों की नकदी और जेवरात बरामद किए जा चुके हैं।

मुख्य मास्टरमाइंड सतीश सहित 8 कुख्यात बदमाश गिरफ्तार किए जा चुके हैं। 1 किलो 300 ग्राम सोना, 6 किलो से अधिक चांदी बरामद. भारी मात्रा में असलहे और 10 लाख का कैश बरामद हो चुका है। डकैती कांड को अंजाम देने वाला मुख्य आरोपी सतीश चौधरी (पुत्र महेंद्र सिंह) मूल रूप से गांव सदरपुर थाना सलेमपुर जिला बुलंदशहर उत्तर प्रदेश का रहने वाला है।

पुलिस के मुताबिक, इस कुख्यात अपराधी पर उत्तर भारत में 11 से अधिक गंभीर किस्म के अपराधों में मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस जांच में सामने आया है कि सतीश ताऊ गैंग के मास्टरमाइंड के रूप में घटनाओं को एक के बाद एक अंजाम देता आया है। उसने इससे पहले गुजरात के सूरत में हीरा व्यापारी के यहां लूट की थी। रुद्रपुर में नीलम ज्वेलर्स के यहां भी लूट जैसी गंभीर घटनाओं में उसी का हाथ है। ताऊ गैंग के गिरफ्तार अब तक के गिरफ्तार 8 बदमाशों में संजय उर्फ राजू पुत्र तेजवीर सिंह उत्तर प्रदेश पुलिस का बर्खास्त सिपाही है।

संजय उर्फ राजू मूल रूप से बुलंदशहर उत्तर प्रदेश का रहने वाला है.ताऊ गैंग का आतंक ओडिशा, दिल्ली, पंजाब, पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और गुजरात जैसे कई राज्यों में लूट डकैती जैसे मामलों में वांटेट के रूप में सामने आया है। गौर हो कि हरिद्वार के मोरा तारा ज्वेलर्स में लगभग दो करोड़ की ज्वेलरी की डकैती हुई थी। दो दिन पहले हरिद्वार पुलिस ने प्रेस कांफ्रेंस कर बताया था कि तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जिनके पास से दो लाख रुपये नकद, चांदी की एक मूर्ति और दो तमंचे बरामद हुए हैं।

आरोपियों में सचिन उर्फ गुड्डू पुत्र संजय निवासी गंगोह जिला सहारनपुर, हिमांशु त्यागी पुत्र मामचंद निवासी जिला बुलंदशहर, हंसराज सैनी उर्फ टिंकू पुत्र निर्मल सैनी निवासी बुढ़ाना जिला मुजफ्फरनगर हाल निवासी जिला पंचायत गेस्ट हाउस रुड़की को गिरफ्तार किया गया था। मुखबिर की सूचना पर रुड़की के जिला पंचायत गेस्ट हाउस के केयरटेकर को पुलिस ने हिरासत में लिया गया था। सख्ती से पूछताछ करने पर उसने लूट की वारदात में शामिल होने की बात कबूल की. पकड़े गए आरोपी की निशानदेही पर अन्य दो आरोपियों को यूपी के सहारनपुर और बुलंदशहर से गिरफ्तार किया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

आबकारी मंत्री यशपाल आर्य ने ली विभाग की समीक्षा बैठक

-आबकारी विभाग ने 2021-22 में 114 प्रतिशत लक्ष्य किया हासिल -2051 करोड के सापेक्ष 2267 करोड राजस्व किया प्राप्त देहरादून:  प्रदेश के आबकारी मंत्री यशपाल आर्य द्वारा आबकारी विभाग से सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों के साथ विधान सभा कक्ष में बैठक की समीक्षा की गयी। बैठक में अवैध शराब की रोकथाम […]