रानीपोखरी में पुल ध्वस्त होेने से नदी में गिरे वाहन, लगातार तेज बारिश के चलते हुआ हदसा, सीएम ने दिये जांच के आदेश

Ghughuti Bulletin

देहरादून:  लगातार हो रही बारिश के चलते ऋषिकेश क्षेत्र में रानीपोखरी में सड़क पर बना पुल ध्वस्त हो जाने से कई वाहन दुर्घना की चपेट में आ गए। घटना के वक्त पुल के ऊपर से लगातार वाहन गुजर रहे थे। इसी बीच अचानक पुल के घ्वस्त हो जाने से कुछ वाहन फंस पुल पर ही फंस गए और कुछ पलट गए। फिलहाल इस घटना से किसी तरह के जानमाल का कोई नुकसान नहीं हुआ है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने घटना का तुरंत संज्ञान लेते हुए इसकी जांच के आदेश दे दिए हैं।

उन्होंने कहा कि यह भी जांच की जायेगी कि पुल किसने बनाया, कब बनाऔर कार्यदायी संस्था कौन थी। रानीपोखरी में पुल के टूटने से दून और ऋषिकेश आने जाने का मुख्य संपर्क कट गया है। अब देहरादून और ऋषिकेश आवाजाही के लिए नेपाली फार्म से होकर जाना होगा।

रानीपोखरी थानाध्यक्ष जितेंद्र चौहान ने बताया कि नदी में बीते रोज से ही भारी मात्रा में पानी आ रहा था। पुल के दोनों किनारों पर पानी टक्कर मार रहा था। पेट्रोल पंप की दिशा में भू कटाव भी हुआ है। नदी के तेज प्रवाह के कारण पुल के मध्य में स्थित पुस्ते क्षतिग्रस्त हो गए। मौके पर पुलिस फोर्स को तैनात किया गया है।

पुल के बीच में फंसे वाहनों को निकालने की कोशिश हो रही है। इस पुल के टूट जाने से गढ़वाल मंडल का राजधानी और एयरपोर्ट से सड़क संपर्क टूट गया है। देहरादून जाने वाले जो भी वाहन ने वह अब नेपाली फार्म वाया भानिया वाला होकर भेजे जा रहे हैं।

ऋषिकेश से देहरादून, डोईवाला, रानीपोखरी आदि क्षेत्रों में आने वाले ट्रैफिक को ऋषिकेश नटराज से नेपाली फार्म होकर देहरादून भेजा जा रहा है, जबकि देहरादून से रानीपोखरी ऋषिकेश को जाने वाला ट्रैफिक भानियावाला हरिद्वार बाईपास नेपाली फार्म से होकर ऋषिकेश भेजा जा रहा है।

रानीपोखरी थानाध्यक्ष ने बताया कि पुल के दोनों ओर ट्रैफिक रोक दिया गया है‌‌। उप जिलाधिकारी डोईवाला लक्ष्मी राज चौहान ने बताया कि थानो भोगपुर मार्ग पर भी पानी के बहाव को देखते हुए ट्रैफिक रोका गया है।

वहीं, लोक निर्माण विभाग के सहायक अभियंता दिनेश सिधवाल ने बताया कि देहरादून राजधानी के निकट रानीपोखरी पुल 1964 में बना था। इस पुल के दो पैनल टूटे हैं। मौके पर जिलाधिकारी देहरादून पहुंच चुके हैं।

उन्होंने बताया कि पूरे घटनाक्रम पर नजर रखी गई है। फिलहाल दोनों ओर ट्रैफिक रोक दिया गया है। गढ़वाल को राजधानी से जोड़ने वाला यह महत्वपूर्ण पुल है।

पुल के धसने से पहले दो छोटे हाथी वाहन एक होमिनी वाहन नीचे फंसे हुए हैं। प्रशासन पानी रुकने का इंतजार कर रहा है, जिससे पुल के नीचे धंसे वाहनों को निकाले जाने की प्रक्रिया की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

ट्रैक्टर पर गन्ना लाद निकले कांग्रेसी विधानसभा के गेट तक चला प्रदर्शन

देहरादून:  विधानसभा के मानसून सत्र के दौरान शुक्रवार को विपक्ष ने हल्ला बोला। गन्ना के समर्थन मूल्य को बढ़ाने, बकाया भुगतान और किसान बिल के विरोध में कांग्रेस विधायकों और नेताओं ने जमकर हंगामा किया। उन्होंने किसान विरोधी विरोधी नीतियों के विरोध में रेस कोर्स विधायक आवास से ट्रैक्टर में […]