लंबगांव में जाम से लोग रहे परेशान

टिहरी; शिवरात्रि पर्व के सामने होते ही पूर्व के वर्षों की भांति जाम की समस्या से लोगों को लंबगांव में दो-चार होना पड़ रहा है। नगर पंचायत में पार्किंग के अभाव और बाजार के बीच की संकरी सड़कों के चलते बुधवार को लोगों का जाम के चलते भारी परेशानी उठानी पड़ी।

स्थानीय लोगों में ज्ञान सिंह रावत, केदार सिंह पवार और पवन नेगी आदि का कहना है कि जाम को देखते हुये नगर क्षेत्र में काई पुख्ता ट्रैफिक व्यवस्था भी नजर नहीं आती है। धार्मिक पर्वों के दौरान लंबगांव में लगातार जाम से लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। जाम के चलते लोगों को बाजार में खरीदारी करने में भारी परेशानी का सामना करना पड़ा है। जाम से सर्वाधिक परेशानी का सामना बुजुर्गों, महिलाओं व बच्चों को करना पड़ा है।

चारधाम परियोजना की निर्माणाधीन कंपनियों के द्वारा सेलुपानी पर्यटक स्थल पर पेयजल स्रोतों का संरक्षण न करने के मामले में स्थानीय लोगों की पहल के बाद डीएम इवा श्रीवास्तव ने एसडीएम नरेंद्रनगर को त्वरित कार्यवाही के आदेश दिये हैं। जिसके बाद एसडीएम युक्ता मिश्र के निरीक्षण में यह बात सामने आई है कि कंपनी स्थानीय परिसंपत्तियों और जल स्रोतों के संरक्षण को लेकर संवेदनहीन बने हुये हैं।

स्थानीय लोगों में रमेश दत्त कोठारी, सरोप सिंह, लक्ष्मी प्रसाद, हरीश कोठारी, मदन आदि ने डीएम को ज्ञापन देकर कंपनियों के खिलाफ आंदोललन की चेतावनी देने को लेकर पत्र भी सौंपा था। जिस पर डीएम ने कार्यवाही करते हुये कंपनी के अधिकारियों सहित एसडीएम नरेंद्रनगर को मौका मुआयना करने को कहा था।

कंपनियों द्वारा चारधाम निर्माण कार्यों के दौरान स्थानीय स्तर पर निर्माण के दौरान टूटने वाली गुलों, रास्तों व सेलुपानी में प्राकृतिक जल स्रोंतों के संरक्षण का काम नहीं किया जा रहा है। जिससे यहां पर ठहरने वाले पर्यटकों सहित स्थानीय लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। स्थानीय लोगों का यह भी कहना है कि निर्माण कामों के दौरान निकलने वाले मलबे को कंपनी के लोग कहीं भी डंप कर रहे हैं। जिसे लेकर भी स्थानीय प्रशासन को कार्यवाही करनी होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद तीरथ ने गिनाई प्राथमिकताएं

 देहरादून ;  उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद तीरथ सिंह रावत ने प्रदेश के विकास के लिए अपनी प्राथमिकताएं गिनाई हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के विकास के लिए वह रणनीति बनाकर कार्य करेंगे। उत्तरखंड के पहले शिक्षा मंत्री का पद संभाल चुके तीरथ कहते हैं कि […]