महंगाई की मार से जनता त्रस्तः प्रीतम सिंह

Ghughuti Bulletin

देहरादून: उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कोरोना महामारी की त्रासदी के बाद पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस के रोजकृरोज बढ़ते दामों पर चिन्ता प्रकट करते हुए इसे केन्द्र सरकार की संवेदनहीनता तथा आम जन विरोधी नीति बताया है।

प्रदेश कांग्रेस प्रीतम सिंह ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि जिस प्रकार पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस के दाम रोजकृरोज बढ़ रहे हैं उससे आम आदमी का जीना दूभर हो चुका है।

कहा कि एक तरफ जहां वैश्विक महामारी कोरोना से दैनिक मजदूरी करने वाले लोगों व छोटे व्यवसायियों के रोजगार बन्द होने से उनकी आर्थिक स्थिति खराब हो चुकी है तथा उनके सामने रोजी रोटी का संकट खडा हो गया है।

निजी संस्थानों में काम करने वाले करोड़ों लोगों को अपने रोजगार से हाथ धोने पड़े हैं। ऐसी स्थिति में केन्द्र सरकार द्वारा लगातार बढ़ाये जा रहे पेट्रोलियम पदार्थों के दाम सरकार की संवेदनहीनता, गरीब विरोधी तथा जनविरोधी नीति का परिचय देते हैं।

प्रीतम सिंह ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण लोगों के रोजगार ठप्प हो चुके हैं तथा पहले से मंहगाई की मार झेल रहा आम आदमी अब पेट्रोलियम पदार्थों (डीजल, पेट्रोल, रसोई गैस) के दामों में लगातार हो रही वृद्धि के कारण जरूरत की चीजों के दामों में कई गुना वृद्धि के कारण पीड़ित हंै।

उन्होंने कहा कि पेट्रोलियम पदार्थों के दामों में वृद्धि के कारण खाघ पदार्थों सहित सभी चीजों के दामों में स्वाभाविक रूप से वृद्धि होनी निश्चित है। विषेशकर खाघ पदार्थों की बढ़ती कीमतों के कारण आम आदमी को दो वत्तफ की रोटी के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस के लगातार बढ़ते दामों को केन्द्र की भाजपा सरकार की संवेदनहीनता बताते हुए कहा कि अनाज, फल, सब्जी के दाम आसमान छू रहे हैं तथा पहले से मंहगाई से त्राहिकृत्राहि कर रही जनता पेट्रोलियम पदार्थों (पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस) की कीमतों में लगातार की जा रही वृद्धि से त्रस्त हो चुकी है तथा अब मंहगाई बर्दाश्त करने की स्थिति में नहीं है।

उन्होंने कहा कि अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में भारी गिरावट होने के बावजूद भी पेट्रोल, डीजल की दरों में लगातार बढ़ोतरी की जा रही है। उन्होंने कहा कि यूपीए शासन में जहां अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम 150 डॉलर प्रति बैरल होनेे के बावजूद देश में पेट्रोलियम पदार्थों के दाम काफी कम थे परन्तु वर्तमान में अन्तर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम बहुत कम होने के बावजूद देश में पेट्रोल-डीजल डीजल व रसोई गैस के दामों मे लगातार वृद्धि की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

प्राचार्य ने किया पैठाणी में व्यवसायिक कॉलेज निर्माण कार्य का निरीक्षण

पौड़ी:  प्राचार्य राजकीय महाविघालय पाबौ, डॉ आर.के. उभान द्वारा निरीक्षण टीम के साथ राजकीय व्यवसायिक कॉलेज पैठाणी के निर्माण कार्य का औचक निरीक्षण किया गया। इस निरीक्षण के दौरान निर्माण कार्य प्रगति पर पाया गया और प्रयोगशाला तथा अकादमिक ब्लॉक का कार्य काफी हद तक पूर्ण पाया गया। अभी प्रशासनिक […]