उत्तराखंड को मिली एक लाख 22 हजार वैक्सीन

Ghughuti Bulletin

देहरादून:  उत्तराखंड में ऑक्सीजन की कमी को दूर करने के लिए लगातार प्रयास किये जा रहे हैं।

इस दिशा में रविवार मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को संत निरंकारी मंडल देहरादून की तरफ से 40 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भेंट किए गए।

ऑक्सीजन की कमी के साथ ही राज्य में वैक्सीन की कमी को भी दूर किया जा रहा है। इसके तहत आज राज्य को 1 लाख 22 हजार वैक्सीन की खेप भी मिली है।

संत निरंकारी मंडल देहरादून की ओर से आज 40 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को भेंट किए गए।

इनमें से 20 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर गढ़ी कैंट बोर्ड की ओर से संचालित हॉस्पिटल व अन्य पर्वतीय जिलों के अस्पतालों को भेजे जाएंगे।

बीजापुर हाउस में आयोजित कार्यक्रम में संत निरंकारी मंडल के मसूरी जोनल इंचार्ज हरभजन सिंह व हेमराज ने मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भेंट किए।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश में सभी अस्पतालों में पर्याप्त ऑक्सीजन व अन्य संसाधन उपलब्ध हैं।

उन्होंने कहा पिछले कुछ दिनों में शहरी क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण की गति कुछ धीमी हुई है। पर्वतीय जिलों में कोरोना की रफ्तार को रोकने के लिए इंतजाम किए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा गांव स्तर पर ग्राम समितियां बनाई गई हैं। सभी जिलाधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि ग्रामीण क्षेत्रों की नियमित मॉनिटरिंग की जाए।

उन्होंने कहा सरकार का जोर ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग कराने पर जोर दिया जा रहा है। लोगों को चाहिए कि वे बगैर संकोच टेस्टिंग कराएं. सरकार की ओर से किट भी उपलब्ध कराई जा रही है, ताकि प्राथमिक उपचार घर पर ही मिल सके।

वहीं, संत निरंकारी मंडल के जोनल इंचार्ज ने उत्तराखंड में अपने समस्त सत्संग घरों को कोविड सेंटर के रूप में परिवर्तित करने का सहमति पत्र भी मुख्यमंत्री को सौंपा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

मेष लग्न में वैदिक विधि विधान के साथ खुले बाबा केदारनाथ धाम के कपाट

रूद्रप्रयाग:  केदारनाथ धाम के कपाट सोमवार की सुबह पांच बजे मेष लग्न में विधि विधान से खोल दिए गए। इस दौरान मंदिर परिसर में तीर्थ पुरोहित, पंडा समाज और हकहककूधारियों की उपस्थित रही। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने श्रद्धालुओं को शुभकामनाएं देते हुए घरों में ही रह कर पूजा अर्चना करने की […]