कोविड संक्रमण की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए इस वर्ष भी सादगी के साथ मनाया जाएगा नंदा देवी महोत्सव

Ghughuti Bulletin

नैनीताल:  जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल ने कलेक्ट्रेट सभागार में श्रीराम सेवक सभा पदाधिकारियों के साथ बैठक की। जिसमें कि मां नंदा देवी महोत्सव को लेकर डोला भ्रमण, मंदिर सजावट के साथ अन्य धार्मिक अनुष्ठानों के आयोजन पर विस्तृत चर्चा की गई।

मंगलवार को हुई इस बैठक में निर्णय लिया गया कि कोविड संक्रमण के चलते संभावित तीसरी लहर को देखते हुए इस वर्ष भी ऐतिहासिक नंदा देवी महोत्सव को सादगी के साथ मनाया जाएगा। जिला प्रशासन की आयोजक संस्था के साथ बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि सितंबर में संक्रमण की स्थिति को देखते हुए एक और बैठक होगी!

जिलाधिकारी के साथ श्रीराम सेवक सभा के पदाधिकारियों की बैठक में सभी की सहमति से तय किया गया कि कोविड संक्रमण की तीसरी लहर के खतरे को देखते हुए इस वर्ष भी ऐतिहासिक नंदा देवी महोत्सव सादगी के साथ मनाया जाएगा। वहीं डोला भ्रमण और अन्य आयोजनों को लेकर सितंबर माह में संक्रमण की स्थिति को देखते हुए एक और बैठक होगी, जिसमें कि इसपर भी निर्णय लिया जाएगा।

सभा के अध्यक्ष मनोज साह व महासचिव जगदीश बवाड़ी ने डोला भ्रमण और महोत्सव के दौरान श्रद्धालुओं को मंदिर में प्रवेश देने की अनुमति देने तथा मंदिर सजावट और अन्य आयोजनों के लिए जिला प्रशासन से आर्थिक मदद का अनुरोध किया।

उनके अनुरोध पर डीएम ने कहा कि सभा, बीते वर्ष की तरह ही सादगी से आयोजन करने को लेकर तैयारियां पूरी रखे। साथ ही आयोजन में होने वाले खर्च को लेकर आंगणक बनाकर जिला पर्यटन अधिकारी को उपलब्ध कराने को कहा।

बैठक में एडीएम अशोक जोशी, एएसपी देवेंद्र पींचा, एसडीएम प्रतीक जैन, ईओ अशोक वर्मा, जिला पर्यटन अधिकारी अरविंद गौड़, राम सेवक सभा अध्यक्ष मनोज साह, महासचिव जगदीश बवाड़ी, हिमांशु जोशी, राजेंद्र बजेठा, विमल चौधरी, मुकेश जोशी, देवेंद्र साह, गोपाल रावत, कमलेश ढौडियाल, हरीश राणा आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

मुख्यमंत्री ने की केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत से शिष्टाचार भेंट, लखवाड़ बहुद्देशीय परियोजना सहित विभिन्न योजनाओं पर वित्तीय स्वीकृति व संशोधित एमओयू पर की चर्चा

यह किया अनुरोध सीएम पुष्कर सिंह धामी ने पीएमकेएसवाई. हर खेत को पानी योजना में पर्वतीय राज्यों के लिये मानको में शिथिलीकरण का किया अनुरोध, सीएसएस.एफएमपी में 1108 करोड़ की 38 नई बाढ सुरक्षा योजनाओं की इन्वेस्टमेंट क्लीयरेंस की स्वीकृति का आग्रह इन बिंदुओं पर मिला आश्वासन लखवाड़ बहुद्देशीय परियोजना […]