बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर हरिद्वार में उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब, सीएम एवं राज्यपाल ने दी शुभकामनाएं

Ghughuti Bulletin

देहरादून : बुद्ध पूर्णिमा के शुभ अवसर पर स्नान के लिए हरिद्वार में श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ा है। स्नान के लिए एक दिन पहले से ही धर्मनगरी में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ गई थी। होटल धर्मशालाएं सभी फुल होने से कई श्रद्धालुओं को गंगा घाटों पर ही रात गुजारनी पड़ी। रात गंगा घाटों पर गुजारने के बाद श्रद्धालुओं ने हरकी पैड़ी सहित गंगा घाटों पर आस्था की डुबकी लगाई। 

बुद्ध पूर्णिमा स्नान पर यातायात व्यवस्था को सुचारू रखने के लिए पुलिस ने यातायात प्लान जारी किया था। सोमवार की सुबह छह बजे से रात 10 बजे तक भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। दिल्ली-मेरठ-मुजफ्फरनगर से हरिद्वार आने वाले हल्के वाहन मंगलौर से डायवर्ट कर रुड़की बाइपास होते हुए हरिद्वार भेजे जाएंगे। यमुनानगर-सहारनपुर से हरिद्वार आने वाले हल्के वाहन भगवानपुर से इमलीखेड़ा से बहादराबाद होते हुए हरिद्वार आएंगे।

वहीं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुद्ध पूर्णिमा के उपलक्ष में प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी है। सीएम ने कहा कि भगवान बुद्ध के करुणा, अहिंसा और समानता का संदेश मानवता के लिए प्रकाश स्तंभ के रूप में काम कर रहे हैं। गौतम बुद्ध के उपदेश हर परिस्थिति और काल में प्रासंगिक है। उनकी दी गई शिक्षा हमें संयम से आगे बढ़ने का संदेश देती है। महात्मा बुद्ध के विचार व जीवन मूल्य एक बेहतर समाज और राष्ट्र निर्माण के लिए हमेशा मार्गदर्शक रहेंगे।

राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह ने भी बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर प्रदेश वासियों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं। अपने संदेश में उन्होंने कहा कि भगवान बुद्ध ने विश्व को मानवता, प्रेम, सत्य, अहिंसा, शांति व सेवा का संदेश दिया है। भगवान बुद्ध का प्रेम सहनशीलता एवं करुणा का संदेश वर्तमान में भी प्रासंगिक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

परिवहन आयुक्त ने दिए निर्देश, वाहनों की जांच के समय न बने जाम की स्थिति

देहरादून: परिवहन आयुक्त रणवीर चौहान ने रविवार को विभागीय यात्रा चेक पोस्ट भद्रकाली का निरीक्षण किया। भद्रकाली चेक पोस्ट पर गंगोत्री और यमुनोत्री जा रहे यात्रीयों के वाहनों को ग्रीन कार्ड और ट्रिप कार्ड की जांच के लिए रोका जाता है। भद्रकाली से बद्रीनाथ- केदारनाथ हाईवे के वाहन भी होकर […]