खुले में फेंकी जा रही पीपीई किट, कार्रवाई की मांग

देहरादून:  प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं।  कोरोना रोकथाम के लिए शासन-प्रशासन नए-नए प्रयास कर रहा है। वहीं, देहरादून में एक ऐसी लैब है। जो कोरोना टेस्टिंग तो कर रही है। लेकिन कोरोना संक्रमण को भी फैला रही है।

कनक चैक के पास आहूजा लैब जहां पर प्रतिदिन सैकड़ों की तादाद में कोरोना टेस्टिंग की जा रही है। लेकिन इस लैब की सबसे बड़ी लापरवाही देखने को मिल रही है। लैब में कोरोना टेस्टिंग में प्रयोग पीपीई किट को बाजारों की गलियों में फेंकने का काम किया जा रहा है। जिसका लोगों द्वारा वीडियो बनाकर वायरल किया जा रहा है।

सड़क पर इस तरह से पीपीई किट फेंकने से आसपास की दुकानदारों को काफी दिक्क्तों का सामना करना पड़ रहा है। जिससे कोरोना फैलने का खतरा बना है। दुकानदार विकास का कहना है कि बाहर एक लैब है जहां पर कोरोना टेस्टिंग की जा रही है। लैब के द्वारा उनकी दुकानों के सामने प्रयोग की गई पीपीई किट को फेंका जा रहा है।

जिस कारण उन्हें बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इससे कोरोना संक्रमण फैलने का डर बना है। दुकानदार दीपक शर्मा ने बताया कि लैब संचालक लैब की वेस्टेज कहीं पर भी फेंक देते हैं। उनकी दुकान में ग्राहक आते हैं, इस वेस्टेज से ग्राहक बीमार पड़ सकते हैं।

उनका कहना है कि लैब संचालक आसपास सफाई रखें, जिससे दूसरों को कोई परेशानी न हो। हालांकि जिला प्रशासन द्वारा सभी लैब संचालक को सख्त हिदायत दी गई है। की सभी लैब संचालक गाइडलाइन के अनुसार काम करें।

वहीं गाइडलाइन के अनुसार काम नहीं करेंगे तो उनके खिलाफ कार्रवाई भी की जा सकती है। लेकिन इस तरह के लैब संचालक कोरोना टेस्टिंग में प्रयोग हुई पीपीई किट को इधर-उधर फेंकने पर कोरोना संक्रमण को रोकने के बजाय संक्रमण को बढ़ाने का काम कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

लोगों की बढ़ी परेशानीःआसमान छूने लगे फल और सब्जियों के दाम

देहरादून:  राजधानी देहरादून में लगाए गए कोरोना कर्फ्यू के बीच आम आदमी की पहुंच से फल-सब्जी दूर होते जा रहे हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते जहां प्रशासन ने अब 10 मई तक कोरोना कर्फ्यू बढ़ा दिया है, तो वहीं फल-सब्जी के बढ़े दामों की वजह से लोगों की […]