पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ौतरी के बाद अब लोगों का रूझान सीएनजी की ओर

Ghughuti Bulletin

देहरादून: पेट्रोल डीजल के दामों में हो रही बेतहाशा वृद्धि के चलते अब लोगों के घरों का बजट बिगड़ने लगा है। ऐसे में राजधानी देहरादून में भी लोगों ने अपने वाहनों में सीएनजी किट लगवाना शुरू कर दिया है।

राजधानी में इस वक्त पेट्रोल के दाम 89.70 रुपए तक है। जबकि सीएनजी का रेट प्रति किलो 59.50 रुपए चल रहा है। ऐसे में लोग अपने वाहन में सीएनजी किट लगवाने को बेहतर विकल्प मान रहे हैं।

राजधानी देहरादून में सीएनजी किट के एक मात्र डीलर राहुल रावत बताते हैं कि पिछले 2 माह से प्रतिदिन वह दो से तीन निजी वाहनों में सीएनजी किट लगा रहे हैं। जबकि पहले निजी वाहन स्वामियों की तुलना में ज्यादा व्यवसायिक वाहन स्वामी सीएनजी किट लगाने के लिए पहुंचा करते थे।

सीएनजी किट डीलर राहुल बताते हैं कि लोगों को सीएनजी किट लगाने के कई फायदे हैं। एक तो सीएनजी पेट्रोल से काफी किफायती है। वहीं, दूसरी तरफ इसका कोई अधिक मेंटेनेंस भी नहीं है।

सीएनजी किट लगे हुए वाहनों में मौजूद सिलेंडर को हर 3 साल में सर्विसिंग की जरूरत पड़ती है। इसके अलावा इसमें और कोई मेंटेनेंस की आवश्यकता नहीं पड़ती, सामान्य तौर पर 25 से 30 हजार के खर्च पर सीएनजी किट एक वाहन में लग जाती है। लेकिन यह दाम वाहन के अनुसार बदलते रहते हैं।

सीएनजी ( कंप्रेस्ड नेचुरल गैस) नेचुरल गैस को कंप्रेस्ड कर तैयार की जाती है। वहीं, यह पेट्रोल-डीजल के मुकाबले सस्ती होने के साथ ही काफी हद तक पर्यावरण फ्रेंडली भी होती है।

यानी कि वाहनों में इसके इस्तेमाल से पेट्रोल-डीजल की तुलना में पर्यावरण को कम नुकसान पहुंचता है। यही कारण है कि सरकार भी पर्यावरण में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए वाहनों में सीएनडी ईधन के इस्तमाल को बढ़ावा दे रही है।

गेल गैस लिमिटेड की ओर से जनपद देहरादून में सीएनजी (कंप्रेस्ड नेचुरल गैस) फिलिंग स्टेशन स्थापित किए जा रहे हैं। अगले 8 सालों में गेल गैस लिमिटेड की ओर से जनपद देहरादून में कुछ 50 सीएनजी फिलिंग स्टेशन स्थापित जिए जाएंगे। जिसमें से 4 सीएनजी फिलिंग स्टेशन शुरू भी हो चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

आईरिस रिकॉग्निशन के आधार पर एंट्री देने की तैयारी

देहरादून: लोक सेवा आयोग परीक्षार्थियों को परीक्षा केंद्रों में अब आईरिस रिकॉग्निशन के आधार पर एंट्री देने की तैयारी कर रहा है। अब तक परीक्षार्थी परीक्षा केंद्रों में बायोमेट्रिक हाजिरी के माध्यम से प्रवेश करते थे तो वहीं कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए अब ये फैसला लिया गया […]