राकेश टिकैत का दावा, यूपी चुनाव से पहले किसी बड़े हिंदू नेता की होगी हत्या

Ghughuti Bulletin

लखनऊ:  केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ कई महीनों से प्रदर्शन कर रहे किसान नेता राकेश टिकैत ने बीजेपी और केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। सिरसा में टिकैत ने कहा कि बीजेपी से खतरनाक कोई पार्टी नहीं है। उन्होंने विवादित बयान देते हुए कहा कि यूपी में चुनाव से पहले किसी बड़े हिंदू लीडर की हत्या हो सकती है।

हरियाणा के सिरसा में किसान सम्मेलन में हिस्सा ले ने पहुंचे भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने बीजेपी सरकार पर बड़ा आरोप लगाया है। टिकैत ने कहा यूपी चुनाव से पहले किसी बड़े हिंदू नेता की हत्या होगी। उन्होंने कहा कि इनसे बचकर रहना और ये किसी बड़े हिंदू नेता की हत्या करवाकर देश में हिंदू-मुसलमान करके चुनाव जीतना चाहते हैं।किसान नेता टिकैत ने कहा कि बीजेपी से खतरनाक कोई दूसरी पार्टी नहीं है, जिन लोगों ने बीजेपी बनाई थी आज उन नेताओं को भी घर में कैद किया हुआ है। टिकैत ने कहा कि इस देश पर सरकारी तालिबानियों का कब्जा हो चुका है।

उन्होंने आरोप लगाया कि जिसअधिकारी ने किसानों पर लाठियां चलवाईं उसका चाचा आरएसएस में बड़े ओहदे पर है। इन सरकारी तालिबानियों का पहला कमांडर करनाल में मिल चुका है। अगर ये हमें खालिस्तानी कहेंगे तो हम इनको तालिबानी कहेंगे।राकेश टिकैत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से कहा गया था कि 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी हो जाएगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ, और न ही फसलें दोगुने रेट पर बिकीं। इसके अलावा टिकैत ने सरकारी नीतियों पर सवाल उठाते हुए कहा कि देश की बड़ी कंपनियां कर्ज लेकर माफ करवा लेती हैं और फिर वही कंपनियां सरकारी संस्थान खरीद लेती हैं।

अगर कोई किसान कर्ज लेकर न भर पाए तो उसका घर, जमीन तक नीलाम कर दी जाती है। कर्ज दस लाख का है तो भी किसान की 50 लाख की जमीन बेची जाती है, ये किस तरह का कानून है। टिकैत ने कहा कि ये नीतियां जहां पर बनती हैं वहां पर कोई भी ट्रैक्टर या हल चलाने वाला नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

सीएम धामी की घोषणा पर अमल आशा वर्कर्स को 2 हजार प्रोत्साहन राशि का जारी शासनादेश

देहरादून: मॉनसून सत्र में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा आशा वर्कर्स के लिए की गई घोषणा को लेकर आज शासन से जीओ जारी हो गया है। जिसके बाद जल्द आशा वर्कर्स को 2000 रुपये प्रोत्साहन राशि के रूप में दिये जाएंगे। वहीं आशा वर्कर्स ने प्रोत्साहन राशि को ऊंट के […]