स्टाफ नर्स की भर्ती परीक्षा स्थगित होने से छात्रों में आक्रोश: पूर्व सीएम त्रिवेंद्र के सामने रखी पीड़ा

Ghughuti Bulletin

देहरादून:  उत्तराखंड में स्टाफ नर्स की भर्ती परीक्षा चैथी बार स्थगित की गई है, जिससे सैकड़ों छात्रों में आक्रोश है।

परेशान परीक्षार्थियों ने मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और बीजेपी विधायक उमेश शर्मा से मुलाकात की। परीक्षार्थियों ने जल्द से जल्द परीक्षा कराने की मांग की है। उनका कहना है कि बार-बार परीक्षा रद्द होने से उनके भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है।

प्रदेश में कोरोना महामारी के चलते स्टाफ नर्स की भर्ती परीक्षा चार बार स्थगित की जा चुकी है। हाल ही में 15 जून को स्टाफ नर्स की भर्ती परीक्षा की तिथि निर्धारित की गई थी, लेकिन आखिर समय पर उसे भी स्थगित कर दिया गया। ऐसे में हजारों युवाओं का भविष्य अधर में लटक गया है। इस से पहले भी 7 मार्च, 18 अप्रैल और 28 मई को परीक्षा स्थगित कर दी गई थी।

छात्रों का कहना है कि बार-बार स्टाफ नर्स की भर्ती परीक्षा स्थगित करके युवाओं के भविष्य के साथ खेला जा रहा है। उनका आरोप है कि सरकार संविदा कर्मियों के दबाव में परीक्षा को रद्द कर रही है।

वहीं इस बारे में विधायक उमेश शर्मा काऊ ने कहा कि यह मामला उनके संज्ञान में आया है। मुख्यमंत्री इस वक्त प्रदेश से बाहर हैं, जैसे ही उनसे मुलाकात होती है। इस विषय पर बात की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने जल संस्थान के अधिकारियों के साथ की बैठक, पेयजल की समस्याओं के निराकरण पर की बात

देहरादून:  कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी द्वारा मसूरी विधानसभा क्षेत्र से जुड़ी हुई पेयजल और सीवरेज समस्याओं के निराकरण के संबंध में अपने विधानसभा कक्ष में पेयजल निगम और जल संस्थान के विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक आयोजित करते हुए जरूरी दिशा-निर्देश दिये। जोशी ने राजेन्द्रनगर में पेयजल की समस्याओं का […]