उतराखंड की खूबसूरत वादियों में चार चांद लगा रहे सात रंग के बुरांश के फूल

Ghughuti Bulletin

देहरादून: उतराखंड की खूबसूरत वादियों में सात रंग के बुरांश के फूल यहां की प्राकृतिक सुंदरता में चार चांद लगा रहे हैं। आमतौर पर यह केवल लाल रंग में ही मिलता है, लेकिन 7 हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित मुनस्यारी में सात रंग के बुरांश खिलते हैं। वहीं केदारनाथ वन प्रभाग के तहत आने वाले भुलकुंड, चोपता और मोहन खाल के जंगलों में भी इन्हें पाया जाता है।

इनमें लाल रंग के अतिरिक्त, सुर्ख गुलाबी, हल्की गुलाबी, पीले, सफेद समेत सात अलग-अलग रंग के बुरांश दिख जाएंगे। जिसके चलते दूरदराज से आये प्रकृति, पर्यटन और पुष्प प्रेमी प्रकृति के इन नजारों का आनंद लेने आ रहे हैं। मुनस्यारी के खलिया, मर्तोली, बलाती, हरकोट के जंगलों में इन दिनों बुरांश के सात रंग के फूल खिले हैं।

हिमालयी क्षेत्रों में 1500 से 3600 मीटर की ऊंचाई पर मिलने वाला यह सदाबहार वृक्ष है। इसके फूल औषधीय गुणों से भरपूर माने जाते हैं। बुरांश के फूलों का इस्तेमाल औषधियों में भी किया जाता है। बुरांश के फूल की पंखुड़ियों को लिवर, किडनी रोग, खूनी दस्त आदि बीमारियों के इलाज में इस्तेमाल किया जाता है। हृदय रोगियों के लिए भी फायदेमंद माना जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

मोदी सरकार का फैसला, नेहरू संग्रहालय का नाम बदलकर पीएम म्यूजियम रखा जाएगा

देहरादून: नेहरू संग्रहालय का नाम बदलकर इसे पीएम म्यूजियम के नाम कर दिया जाएगा। केंद्र सरकार ने यह फैसला किया है। इस म्यूजियम में देश के सभी 14 पूर्व प्रधानमंत्रियों की यादों को सहेजा जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अंबेदकर जयंती यानी 14 अप्रैल को इसका उद्घाटन करेंगे। बैठक में पीएम […]