बेरोजगारी और महंगाई के खिलाफ कांग्रेस ने किया धरना-प्रदर्शन

Ghughuti Bulletin

रुद्रपुर: बेरोजगारी और बढ़ती महंगाई के खिलाफ कांग्रेसियों ने रुद्रुपर के गांधी पार्क में धरना-प्रदर्शन किया। साथ ही इसके लिए केंद्र की भाजपा सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए कांग्रेसियों ने हरिद्वार कुंभ में हुए कोरोना जांच घोटाले की मांग की।

शुक्रवार को कांग्रेस और यूथ कांग्रेस के पदाधिकारी और कार्यकर्ता गांधी पार्क में एकत्र हुए और धरने में बैठे। इस दौरान भाजपा की राज्य और केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।

वक्ताओं ने कहा कि भाजपा सरकार की जनविरोधी नितियों के चलते देश में बेरोजगारी और महंगाई बढ़ी है। पेट्रोल और डीजल के दाम आसमान छू रहे हैं। महिलाओं के ऊपर अत्याचार हो रहे हैं और हरिद्वार महाकुंभ में कोरोना जांच के नाम पर करोड़ों का महाघोटाला हुआ है।

कहा कि भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश सरकार हरिद्वार कुंभ मेले में महा घोटाले के आरोपियों को बचाने का काम कर रही है, जबकि हरिद्वार कुंभ मेले से हर भारतीय की आस्था जुड़ी हुई है। इससे जाहिर होता है कि प्रदेश सरकार भारतीयों की आस्था से खिलवाड़ कर रही है।प्रधानमंत्री ने कहा था मेरी सरकार आने पर में हर वर्ष दो करोड़ रोजगार दूंगा लेकिन नोटबंदी के बाद असंगठित क्षेत्रों में 11 करोड़ युवाओं से उनका रोजगार छीनने का काम किया है।

इस अवसर पर यूथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सुमित्तर भुल्लर, पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तिलकराज बेहड़, पूर्व जिलाध्यक्ष नारायण सिंह बिष्ट, अरुण कुमार पाण्डेय, महानगर अध्यक्ष जगदीश तनेजा, युवा कांग्रेस जिला अध्यक्ष नईम अहमद प्रदेश महामंत्री सौरभ बेहड़, प्रभाष साहनी, मानश बैरागी, राघव प्रकाश अधिकारी, निशांत शाही, जावेद अख्तर, फिरदौस सलमानी, संदीप बावा, सोनू माटा, पूरन चैहान, विक्रमजीत सिंह, हाजी इनामुद्दिन खान, चंद्रशेखर, किशोर कुमार, रिजवान अंसारी आदि थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

बजट शत प्रतिशत खर्च नहीं हुआ तो होगी प्रतिकूल प्रविष्टि: महाराज

-समीक्षा बैठक के दौरान विभागीय मंत्री ने किया अधिकारियों को सचेत देहरादून: निर्माण कार्य के दौरान जो भी अधिकारी अपने बजट को शत प्रतिशत खर्च नहीं करेगा उसके विरुद्ध प्रतिकूल प्रविष्टि की जाएगी। उक्त बात शुक्रवार को लोक निर्माण विभाग निदेशालय में समीक्षा बैठक के दौरान विभागीय अधिकारियों को सचेत […]

You May Like