सरकार अब सिर्फ देहरादून में ही नहीं, बल्कि प्रदेश के हर कोने में दिखाई देगी : मुख्यमंत्री

Ghughuti Bulletin

सीएम ने कहा
प्रदेश के हर कोने में सरकार की उपस्थित नजर आने को लेकर प्रतिबद्ध.
सरकार के रूप में नहीं, साझीदारी के रूप में काम किया जाएगा.
वरिष्ठ विधायकों के अनुभवों का सहयोग लिया जायेगा.
पूर्ववर्ती त्रिवेंद्र और तीरथ सरकार के कार्यों को आगे बढ़ाया जाएगा.

देहरादून:  उत्तराखंड सरकार में मुखिया के रुप में पद संभालने  के साथ ही मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी पूरे जोश के साथ ऐक्शन में दिखने लगे हैं। लगातार अधिकारियों के साथ बैठक कर सीएम प्रदेश के विकास का खाका तैयार करने में जुट गए हैं। तो वहीं प्रदेश के बेरोजगार युवाओं के लिए रोजगार के अवसर मुहैया कराने की प्राथमिकता उनकी हर कार्यशैली में दिखाई पड़ रही है। युवाओं के भविष्य को देखते हुए उन्होंने भर्ती प्रक्रिया में अधिकतम आयु सीमा में एक वर्ष की छूट देने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के हर कोने में सरकार की उपस्थिति नजर आने को लेकर हम प्रतिबद्ध हैं। इसके लिए प्रदेश के हर ब्लाक तक दौरे की तैयारी है।

रविवार को बीजापुर राज्य अतिथि गृह में पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि सरकार अब केवल देहरादून में ही नहीं, बल्कि प्रदेश के हर कोने में दिखाई देगी। जल्द ही वह प्रदेश का दौरा शुरू करेंगे। सरकार जनता के बीच जाएगी। सरकार के रूप में नहीं, साझीदारी के रूप में काम किया जाएगा। अब बोलना कम और काम ज्यादा होगा। उन्होंने कहा कि विकास कार्यों को समयबद्ध तरीके से किया जाएगा। रोजगार के साथ.साथ स्वरोजगार को भी जोड़ा जाएगा। सभी वरिष्ठ विधायकों को अनुभवी बताते हुए उन्होंने कहा कि सबके सहयोग से सरकार आगे बढेगी। पूर्ववर्ती त्रिवेंद्र और तीरथ सरकार के कार्यों को आगे बढ़ाया जाएगा।

प्रदेश में चार साल में तीन मुख्यमंत्री के सवाल पर उन्होंने कहा कि सरकार वही है, केवल चेहरे बदले हैं। सरकार ने चार सालों में उत्तराखंड के विकास के लिए बहुत सारे काम किए हैं। जो काम शुरू किए गए हैं, उन्हें पूरा किया जाएगा। नए काम भी शुरू किए जाएंगे। लक्ष्य स्पष्ट रखा गया है कि नए कार्यों का केवल शिलान्यास ही नहीं होगा, बल्कि लोकार्पण भी किया जाएगा। यानी जो काम शुरू करेंगे, उसे पूरा किया जाएगा।

लोकायुक्त के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की प्राथमिकता भ्रष्टाचार को जड़ से समाप्त कर पारदर्शी शासन देना है। उनके पूर्ववर्ती मुख्यमंत्रियों ने इस पर काम किया और वे भी पारदर्शी और भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्था देने का काम करेंगे।

पर्यटन के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि जब राज्य बना था, तब पर्यटन व ऊर्जा इसकी मूल अवधारणा में थे। निश्चित रूप से पर्यटन का क्षेत्र कोरोना के कारण प्रभावित हुआ है। अब पर्यटन विकास पर जोर रहेगा। अन्य क्षेत्रों में रोजगार इसके माध्यम से मिले इस पर ध्यान दिया जाएगा। मुख्यमंत्री बनने के अनुभव पर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि पार्टी ने जो काम दिया है उसे पूरी तन्मयता से आगे बढ़ाएंगे। प्रदेश की जनता की उम्मीदों पर खरा उतरने का प्रयास करेंगे। गैरसैंण पर मुख्यमंत्री ने कहा कि गैरसैंण में पूर्ववर्ती नेतृत्व ने काफी काम किया है। यह ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित हो चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

बंशीधर भगत के सीएम बदलने वाले बयान पर विपक्ष ने की तीखी टिप्पणी

हल्द्वानी: कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत के उस बयान को विपक्ष ने मुद्दा बना लिया है। जिसमें भगत ने कहा है कि हम चाहे दस मुख्यमंत्री बनायें। शोसल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो में, भगत कहते हुए दिख रहे हैं कि हम 10 मुख्यमंत्री बनाएं, एक बनाएं या दो […]

You May Like