शहरी विकास मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने की अधिकारीयों के साथ समीक्षा बैठक, साफ सफाई को लेकर देये निर्देश

Ghughuti Bulletin

देहरादून: शहरी विकास मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने विभाग के अंतर्गत संचालित विभिन्न योजनाओं के संबंध में वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से समीक्षा बैठक की। बैठक में अग्रवाल ने चारधाम यात्रा रूट पर पड़ने वाले 27 शहरों, गंगा नदी के तट पर पड़ने वाले 15 नगरों सहित सभी नगर निकायों में सफाई व्यवस्था, स्थाई और अस्थाई शौचालयों की स्थिति, नाले की सफाई, दवा छिड़काव, पेयजल व्यवस्था आदि स्थितियां जानने के बाद आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

शहरी विकास मंत्री प्रेमचंद अग्रवाल ने मंगलवार को सचिवालय स्थित विश्वकर्मा भवन के वीरभद्र सिंह गढ़वाली सभागार में समीक्षा बैठक की। शहरी विकास मंत्री ने प्रधानमंत्री द्वारा मन की बात कार्यक्रम के दौरान केदारनाथ में गंदगी को लेकर किए गए जिक्र को लेकर संबंधित ईओ से वीडियो कॉन्फ्रेस के जरिए जानकारी ली। साथ ही ईओं को केदारनाथ के आसपास पूरी तरह से साफ सफाई बनाए रखने के निर्देश दिए। कहा कि इसकी वीडियों बनाकर उच्चाधिकारियों को भेजें। इसी तरह बद्रीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धामों के ईओ से भी साफ सफाई की स्थिति का जायजा लियाI

अग्रवाल ने चमोली नगर पालिका के ईओ द्वारा प्लास्टिक, पॉलीथिन को बंद करने, बरसात को देखते हुए नालियों को पूर्ण रूप से साफ किए जाने पर प्रशंसा जाहिर की। इसी तरह क्रमवार रूद्रप्रयाग, पौड़ी, बड़कोट, श्रीनगर, रूड़की, हरिद्वार, ऋषिकेश, देहरादून, लंढौरा, मंगलौर, इमली खेड़ा, सेलाकुई, मसूरी, विकासनगर, झबरेड़ा, हरबटपुर, डोईवाला सहित सभी निकायों में सफाई व्यवस्था, शौचालयों, दवा छिड़काव की स्थिति जानी।

बैठक के दौरान अग्रवाल ने पिरान कलियर नगर पालिका क्षेत्र में रात्रिकाल में सफाई व्यवस्था न किए जाने पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने मौके पर सभी नगर निकायों को निर्देशित करते हुए कहा कि धार्मिक स्थलों के आसपास सफाई व्यवस्था का विशेष ध्यान रखा जाए। सभी जगह तीन शिफ्टों में सफाई की जाएं। कूड़ा उठान का कार्य रात्रिकाल में किया जाए, जिससे अगले दिन लोगों को नगर साफ दिखाई दें।

शहरी विकास मंत्री ने सख्त लहजे में सभी नगर निगम के नगर आयुक्तों, नगर पालिका परिषद और नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि दवा छिड़काव के बावजूद जिस भी निकाय में डेंगू जैसी बीमारी फैलेंगी, इसके लिए निकाय के अधिकारी जिम्मेदार होंगे। कहा कि छिड़काव में दवा की मात्रा पर्याप्त हो। वहीं उन्होंने सभी अधिकारियों को कहा कि मानसून से पूर्व नालियों को साफ किया जाए।

अग्रवाल ने कहा कि डेंगू जैसी बीमारियों से निजात पाने के लिए उसके लार्वा को नष्ट करने का जून माह सही समय है, क्यों कि लार्वा नष्ट न किया गया तो उसके बाद मच्छर पैदा होंगे और स्थिति नियंत्रण से बाहर चली जाएगी। इसके लिए उन्होंने घर-घर टीम भेजकर लार्वा को नष्ट करने के निर्देश दिए। कहा कि ऐसे निजी कार्यक्रम जैसे शादी, जन्मदिन महोत्सव आदि, जहां निकाय की ओर से सफाई की जाती है, उनसे न्यूनतम चार्ज भी वसूला जाए, जिससे राजस्व में वृद्धि हो सके।

इस मौके पर अपर मुख्य सचिव आनंद वर्द्धन, प्रभारी सचिव विनोद कुमार सुमन, निदेशक ललित मोहन रयाल, विभिन्न नगर निगमों के नगर आयुक्त, नगर पालिका और नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए जुड़े।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

प्रदेश में गर्मी की मार, हरिद्वार, देहरादून सहित मसूरी के हाल बैहाल

देहरादून: मंगलवार को हरिद्वार में 42.5 डिग्री तापमान रिकार्ड दर्ज किया गया। वहीं राजधानी देहरादून में पारा 40.2 डिग्री तक पहुंच गया। यह तापमान पिछले तीन सालों में जून के पहले सप्ताह में सर्वाधिक है। वहीं, गर्मी से पहाड़ों की रानी मसूरी भी तपने लगी है। मंगलवार को हरिद्वार प्रदेश […]