उत्तराखंड के बेरोजगारों को सिंचाई मंत्री की बड़ी सौगात, निविदा प्रक्रिया के तहत, 50 लाख तक के कार्यों के लिए अनुभव प्रमाण पत्र की आवश्यकता समाप्त

Ghughuti Bulletin

देहरादून: प्रदेश के सिंचाई मंत्री सतपाल महाराज ने गुरुवार को प्रदेश के बेरोजगारों को एक बड़ा तोहफा देते हुए 50 लाख तक की निविदा हेतु लिए मंगे जाने वाले अनुभव प्रमाण पत्र की अनिवार्यता को समाप्त कर दिया है।

सिंचाई मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि सिंचाई विभाग में निविदा प्रक्रिया के तहत प्रदेश के बेरोजगार नवयुवकों की सहभागिता को सुनिश्चित करने के लिए प्रचलित निविदा प्रणाली में संशोधन किया गया है।

महाराज ने कहा कि सिंचाई विभाग में निविदा प्रक्रिया के तहत प्रदेश के बेरोजगारों को रोजगार देने के साथ.साथ अधिक से अधिक सहभागिता, क्षमता, संवर्धन, पारदर्शिता एवं प्रतिस्पर्धा सुनिश्चित करने हेतु प्रचलित निविदा प्रणाली के निर्माण कार्यों से संबंधित प्रावधानों में संशोधन किया गया है।

उन्होंने बताया कि टर्नओवर हेतु पूर्व में निर्धारित 50 लाख तक की निविदा हेतु निविदा दाता का टर्नओवर लिए जाने के प्रावधान को समाप्त कर दिया गया है।

महाराज ने बताया कि अब 50 लाख तक की निविदा हेतु अनुभव प्रमाण पत्र की भी आवश्यकता नहीं है उसे अब समाप्त कर दिया गया है।

सिंचाई मंत्री ने कहा कि ई.निविदा, टू.बिद सिस्टम के अनुसार 50 लाख से अधिक के कार्यों के संबंध में ही की जाएगी और यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू माने जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

प्रधानमंत्री के सलाहकार भाष्कर खुल्बे दर्शन को पहुंचे बदरीनाथ व केदारनाथ धाम, पुनर्निर्माण कार्यों सहित मास्टर प्लान‌ का लिया जायजा

-केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्यों व बदरीनाथ मास्टर प्लान हेतु प्रदेश सरकार के प्रयासों को लेकर की सराहना बदरीनाथ/केदारनाथ: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सलाहकार भास्कर खुल्बे आज अपने निर्धारित कार्यक्रम के तहत प्रातः 8.45 बजे केदारनाथ धाम दर्शन को पहुंचे। खुल्बे के पहुंचने पर केदारनाथ धाम के तीर्थ पुरोहितों, उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम […]