अपने गांव पहुंची ओलंपिक की हैट्रिक गर्ल वंदना कटारिया, लोगों ने किया जोरदार स्वागत

Ghughuti Bulletin

हरिद्वार:  टोक्यो ओलंपिक में इतिहास रचने वाली हॉकी खिलाड़ी वंदना कटारिया अपने गांव रोशनाबाद पहुंच गई हैं। वंदना कटारिया का रोशनाबाद पहुंचने पर जोरदार स्वागत किया गया। रोशनाबाद के जिस स्टेडियम में वंदना ने अपने खेल की शुरुआत की थी, उसी स्टेडियम में आयोजित कार्यक्रम में जिला प्रशासन, स्थानीय विधायकों के साथ ही गांव वालों और परिजनों ने ढोल-नगाड़ों से उनका स्वागत किया। इस मौके पर जब वंदना ने अपनी मां से मुलाकात की तो मां-बेटी दोनों भावुक हो गईं।

बता दें कि, वंदना ने टोक्यो ओलंपिक में गोल की हैट्रिक लगाकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है। वंदना भारतीय महिला हॉकी टीम की ओर से सर्वाधिक 4 गोल करने वाली अकेली खिलाड़ी रहीं। वंदना कटारिया ने कहा कि काफी दिनों के बाद अपने गांव आकर उन्हें बहुत अच्छा लग रहा है।

उन्होंने बताया कि टोक्यो ओलंपिक में शुरुआती मैच हारने के बाद उन्हें थोड़ी निराशा जरूर हुई। लेकिन देश के लिए मेडल की चाह में उनका आत्मविश्वास जरा भी नहीं टूटा। हालांकि वो मेडल हासिल नहीं कर पाईं, लेकिन देशभर में महिला हॉकी खिलाड़ियों का सम्मान देखकर उन्हें बहुत खुशी है.वंदना के स्वागत के लिए हरिद्वार जिलाधिकारी विनय शंकर पांडे, एसएसपी सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस समेत कई अधिकारी और ग्रामीण मौजूद रहे।

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक व जिले के विधायकों समेत तमाम लोगों ने उनका जोरदार स्वागत किया। सभी ने एक स्वर में कहा कि वंदना ने आज हरिद्वार ही नहीं पूरे देश का नाम रोशन किया है और वंदना पर उन्हें गर्व है।

हरिद्वार जिलाधिकारी विनय शंकर पांडे ने कहा कि वो अपने आपको गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं कि वंदना जैसी खिलाड़ी जिस जिले में रहती है वो उस जिले के जिलाधिकारी हैं। उन्होंने कहा कि आगे भी वंदना को जिला स्तर पर प्रशासन की जो भी मदद की जरूरत पड़ेगी उसे जरूर पूरा किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

15 अगस्त को लालकिले से 400 किमी दूर झंडा फहराएंगे टिकैत

देहरादून:  कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर देश के किसान पिछले करीब 9 महीने से दिल्ली की सीमा पर डटे हैं। भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता और किसान नेता राकेश टिकैत देशभर में घूम-घूमकर किसानों की महापंचायत कर उन्हें केंद्र सरकार के खिलाफ लामबंद करने में जुटे हैं। […]