निजी स्वास्थ्य संस्थानो को वैक्सीन खरीदने की छूट की उम्मीद

Ghughuti Bulletin

देहरादून:  उत्तराखंड में कोविड-19 संक्रमण पर रोकथाम के लेकर सरकार ने महत्वपूर्ण आदेश जारी किए हैं। राज्य सरकार द्वारा महामारी को लेकर जरूरी सुझाव समिति का गठन किया गया है। साथ ही संक्रमित मरीजों के ठीक होने के बाद मानसिक रोग से प्रभावित होने पर मनोचिकित्सकों की व्यवस्था करने से संबंधित आदेश भी जारी किए गए हैं। इसके अलावा अब निजी स्वास्थ्य क्षेत्र में भी वैक्सीन उपलब्ध कराने की कवायद की जा रही है।

जरूरी सुझाव समिति का गठनप्रदेश में संक्रमित मरीजों के बड़ी संख्या में मानसिक रोग से प्रभावित होने की जानकारी मिल रही हैं। ऐसे में राज्य सरकार ने मनोचिकित्सकों से ऐसे मरीजों के इलाज के लिए विशेष व्यवस्था की है। इसमें ई-संजीवनी के तहत मरीजों को मनोचिकित्सक सुझाव दे सकेंगे।

सुझाव का समय सुबह 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक रहेगा। उधर दूसरी तरफ कोविड महामारी के दौरान सरकार ने स्वास्थ्य संबंधी जरूरी कदम और प्रोटोकॉल स्थापित करने के लिए एक 14 सदस्य कमेटी का गठन किया है। कमेटी में भ्छठ मेडिकल यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर को अध्यक्ष बनाया गया है। यह कमेटी महामारी के दौरान सरकार को सभी जरूरी सुझाव और स्वास्थ्य संबंधी जानकारियां उपलब्ध कराएगी।

प्रदेश में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन उत्तराखंड की तरफ से सभी स्थानीय अध्यक्षों और सचिवों को भी एक पत्र लिखकर सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की तरफ से वैक्सीन को निजी बाजार में उपलब्ध कराने की बात कही गई है। पत्र के मुताबिक सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ₹600 प्रति डोज के हिसाब से वैक्सीन बाजार में उपलब्ध कराना चाहता है। जिसके लिए विभिन्न संस्थान अप्लाई कर सकते हैं। इस तरह अब निजी स्वास्थ्य क्षेत्र में भी जल्द ही वैक्सीन उपलब्ध होने की उम्मीद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

ओलों की मार से 50 फीसद गिरा सेब और आड़ू का उत्पादन

  हल्द्वानी: बेमौसम बारिश के साथ हुई ओलावृष्टि से पर्वतीय क्षेत्र के काश्तकारों को मायूसी हाथ लगी है। उद्यान, कृषि व राजस्व विभाग के सामूहिक सर्वेक्षण में फलोत्पादन को 40 से 50 प्रतिशत तक क्षति होने की बात सामने आई है। ओलावृष्टि ने सब्जियों को भी नुकसान पहुंचाया है। ऐसे […]