हमें मुर्मू को ‘आदिवासी का प्रतीक’ नहीं बनाना चाहिए: अजय कुमार

Devendra Budakoti

देहरादून: राष्ट्रपति चुनाव से पहले कांग्रेस नेता अजय कुमार ने एन.डी.ए. उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को लेकर बयान जरी किया है| उनके इस बयान से एक बड़ा विवाद के खड़े होने की संभावना जताई जा रही है। उन्होंने अपना बयाँ जरी करते हुए कहा कि हमें मुर्मू को ‘आदिवासी का प्रतीक’ नहीं बनाना चाहिए।

समाचार एजेंसी से बातचीत में उन्होंने कहा, ‘यह द्रौपदी मुर्मू के बारे में नहीं है। यशवंत सिन्हा अच्छे उम्मीदवार हैं और मुर्मू जी भी शालीन हैं। लेकिन वह भारत की बड़ी दुष्ट विचारधारा को दिखाती हैं। हमें उन्हें आदिवासी का प्रतीक नहीं बनाना चाहिए। हमारे पास राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद हैं और हाथरस हो गया। क्या उन्होंने एक भी शब्द कहा? अनुसूचित जाति की स्थिति बदतर हो गई है।’

उन्होंने कहा है कि समान विचारधारा वाली सभी पार्टियों को विपक्षी उम्मीदवार यशवंत सिन्हा के लिए वोट करना चाहिए।

कुमार ने कहा, ‘प्रतीक बनाना और देश के लोगों को बेवकूफ बनाना ही मोदी सरकार का काम है। यह देश की आत्मा की लड़ाई है और एक जैसी विचारधारा वाली सभी पार्टियों को यशवंत सिन्हा के लिए वोट देना चाहिए।’

साथ ही उन्होंने एन.डी.ए. उम्मीदवार की विचारधारा पर सवाल उठाए हैं। उनके बयान पर भारतीय जनता पार्टी ने पलटवार कर, इसे मुर्मू का अपमान बताया है। भारतीय निर्वाचन आयोग की तरफ से जारी कार्यक्रम के अनुसार, राष्ट्रपति चुनाव 18 जुलाई को होने हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

एमडीडीए की टीम ने मसूरी और दून के अवैध निर्माण कार्यों पर की कार्रवाई

देहरादून: मसूरी देहरादून विकास प्राधिकरण (एमडीडीए) की टीम ने मंगलवार को दून और मसूरी में अवैध निर्माण पर कार्रवाई की। मसूरी के काला गांव में पहाड़ी को काटकर समतलीकरण और डिमार्केशन का काम रुकवा दिया। इसके अलावा मौके पर किए जा रहे निर्माण कार्य को ध्वस्त कर दिया। देहरादून से […]