बिना अनुमति अब लोगों की तस्वीरें और वीडियो नहीं कर सकेंगे ट्विटर पर अपलोड

Ghughuti Bulletin

देहरादून: माइक्रो ब्लोगिंग प्लेटफार्म ट्विटर ने अपनी निजी सूचना नीति को अपडेट किया हैI इसके अनुसार अब यूजर्स प्राइवेट लोगों की तस्वीरें और वीडियो उनकी अनुमति के बिना पोस्ट नहीं कर सकेंगेI ऐसी कोई सामग्री संबंधित व्यक्ति की अनुमति के बिना पोस्ट करने की शिकायत मिलने पर कार्रवाई की जाएगी I ट्विटर ने कहा कि मीडिया और सूचना के दुरुपयोग को लेकर बढ़ती चिंताओं को ध्यान में रखते हुए यह कदम उठाया गया हैI

कंपनी ने एक ब्लॉग पोस्ट में कहा, ‘गोपनीयता और सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए हम अपनी मौजूदा निजी सूचना नीति को अपडेट कर रहे हैं और इसमें ‘निजी मीडिया’ को शामिल करने के लिए इसके दायरे का विस्तार कर रहे हैं I हमारी मौजूदा नीति के तहत, ट्विटर पर लोगों की निजी जानकारी, जैसे कि फोन नंबर, पता और आईडी प्रकाशित करने की अनुमति नहीं हैI इसमें निजी जानकारी को उजागर करने की धमकी देना या दूसरों को ऐसा करने के लिए प्रोत्साहित करने जैसे कार्य भी शामिल हैI’

कंपनी के अनुआर , ‘निजी मीडिया, जैसे कि फोटो या वीडियो साझा करना, संभावित रूप से किसी व्यक्ति की गोपनीयता का उल्लंघन कर सकता है, और इससे भावनात्मक या शारीरिक नुकसान हो सकता है. निजी मीडिया का दुरुपयोग सभी को प्रभावित कर सकता है, व महिलाओं, कार्यकर्ताओं, असंतुष्टों और अल्पसंख्यक समुदायों के सदस्यों पर इसका प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता हैI’

ट्विटर ने नयी सूचना नीति को स्पष्ट करते हुए कहा है कि इसका यह मतलब नहीं है कि निजी व्यक्तियों की तस्वीरें अपलोड करने वाले यूजर्स को पोस्ट करते समय कोई सहमति फॉर्म जमा करना होगा, बल्कि इसका मतलब ये है कि यदि कोई इस नीति के उल्लंघन की रिपोर्ट करेगा तो ट्विटर कार्रवाई करेगा I

उन्होंने कहा कि ऐसी कोई सामग्री संबंधित व्यक्ति की अनुमति के बिना पोस्ट करने की शिकायत मिलने पर कार्रवाई की जाएगीI कंपनी आगे कहा , ‘जब हमें चित्रित व्यक्तियों द्वारा या अधिकृत प्रतिनिधि द्वारा सूचित किया जाएगा कि उन्होंने अपनी निजी तस्वीर या वीडियो साझा करने की अनुमति नहीं दी थी, तो हम इसे हटा देंगे. यह नीति सार्वजनिक हस्तियों या सार्वजनित में साझा की गई व्यक्तियों की तस्वीरों पर लागू नहीं होती हैI’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

देवस्थनम बोर्ड वापसी पर तीर्थपुरोहितों सहित संत समाज ने किया मुख्यमंत्री धामी का धन्यवाद

देहरादून: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा उत्तराखण्ड देवस्थानम बोर्ड प्रबन्धन अधिनियम वापस लिये जाने की घोषणा के बाद चार धाम तीर्थ पुरोहितों, रावल समाज, पंडा समाज, हक हकूक धारियों के साथ ही अखाड़ा परिषद्, विश्व हिन्दु परिषद् आदि के सदस्यां ने मुख्यमंत्री से भेंट कर उनका आभार व्यक्त किया। मंगलवार […]